मध्य भारत और पूरे देश को टीबी मुक्त बनाने में सभी सहयोग करें: राज्यपाल

शेयर करें:

निवाड़ी @ म.प्र. की महामहिम राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने आज ओरछा में निवाड़ी जिले में विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रही स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ विकास कार्यों की समीक्षा की तथा

उनके कार्यों को विस्तार से जाना और अपने सुझाव भी दिये। इस दौरान श्रीमती पटेल ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाली सभी स्वयं सेवी संस्थायें अपने कार्य के साथ ही टीबी के मरीजों को भी गोद लें और उन्हें दबायें लेने तथा पोष्टिक आहार लेने के लिये प्रेरित करें, विशेषकर 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों पर विशेष ध्यान दें जिससे वे शीघ्र स्वस्थ्य हो सकें। जिससे हम सब मिलकर मध्य भारत और पूरे देश को टी.बी. मुक्त बनाने में अपना योगदान दे सकें। इससे बुन्देलखंड देश का पिछड़ा क्षेत्र नहीं होकर विकसित क्षेत्र बन सके।

उन्होंने बताया कि टी.बी. मरीजों को शीघ्र स्वस्थ्य होने में सहयोग और प्रेरणा देने के लिये मैं स्वयं तथा राजभवन के अधिकारी भी जुड़े हैं, जिसके साकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। उन्होंने इस संबंध में अपने अनुभव भी साझा किये। साथ ही उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को ऐसे मरीजों की सूची सभी को उपलब्ध कराने को कहा जिससे लोगों को मरीजों की जानकारी मिल सके।

बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने उपस्थित स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। इसके पश्चात बैठक में उपस्थित डेवलपमेंट अल्टरनेटित, परहित समाजसेवी, बहुजन हितकारी शिक्षा प्रसार समिति, हरितिका संस्था, प्रगति रथ, दर्षना, सृजन, मानव जागरण, रेडक्रॉस सोसायटी, विकास उद्योग समिति तथा सेंटर फार एडवांस रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों द्वारा उनके द्वारा क्षेत्र में किये जा रहे विकास कार्यों की जानकारी दी गई।