परीक्षाओं के मद्देनजर लाउडस्पीकर लगाये गये प्रतिबंध

शेयर करें:

जबलपुर। कलेक्टर भरत यादव ने दसवीं-बारहवीं की वार्षिक परीक्षाओं के मद्देनजर ध्वनि विस्तारक यंत्रों के लगाये गये प्रतिबंधों का सख्ती से पालन कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं ताकि छात्र-छात्राओं की पढ़ाई में कोई बाधा उत्पन्न न हो । आज सोमवार को आयोजित समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में श्री यादव ने दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं में किसी भी तरह से नकल एवं अनुचित साधनों के इस्तेमाल न हो इस ओर विशेष ध्यान देने की हिदायत भी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दी । उन्होंने कहा कि यदि ऐसे मामले सामने आते हैं तो परीक्षार्थी के साथ-साथ केन्द्राध्यक्षों पर भी सख्त कार्यवाही की जाय ।

कलेक्टर ने बैठक में धान उपार्जन के दौरान निम्न गुणवत्ता की खरीदी गई अस्वीकृत धान का संबंधित समितियों के माध्यम से तत्काल उठाव सुनिश्चित करने के निर्देश दिये । उन्होंने जिला पंजीयक सहकारी संस्था को अस्वीकृत की गई धान के उठाव में रूचि नहीं ले रही समितियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश बैठक में दिये ।  श्री यादव ने कहा कि समर्थन मूल्य पर गेहूं के उपार्जन के लिए पंजीयन कराने वाले किसानों का सत्यापन का कार्य तय समय सीमा के भीतर करा लिया जाये । उन्होंने कहा कि जहां-जहां भी मोबाइल एप से हुए फसलों की गिरदावरी में कमियां नजर आ रही है उसे तत्काल दुरूस्त किया जाये ।  उन्होंने इसके लिए दोषी पटवारियों पर भी कार्यवाही के निर्देश दिये ।

श्री यादव ने जबलपुर शहर में पीडीएस सर्वे के कार्य में तेजी लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये । उन्होंने सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों के निराकरण की समीक्षा करते हुए सौ दिन से अधिक समय से लंबित शिकायतों का प्राथमिकता से निराकरण किये जाने पर जोर दिया।

कलेक्टर ने बैठक में राजस्व वसूली की स्थिति की समीक्षा भी की । उन्होंने बार-बार के निर्देश के बावजूद वसूली की स्थिति में अपेक्षित सुधार न आ पाने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि लक्ष्य से कम वसूली होने पर राजस्व अधिकारियों की इस वर्ष की गोपनीय चरित्रावली में विपरीत टीप अंकित की जायेगी ।  उन्होंने राजस्व प्रकरणों के निराकरण में गति लाने के निर्देश भी राजस्व अधिकारियों को दिये ।

कलेकटर ने बैठक में आपकी सरकार आपके द्वार योजना के तहत आयोजित किये जाने वाले शिविरों की तिथियों का संबंधित क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार करने और शिविर आयोजन के कम से कम सात दिन पहले सभी विभागों के अधिकारियों को बैठक लेने के निर्देश एसडीएम और जनपद पंचायतों के सीईओ को दिये ।  ताकि शासन की मंशा के अनुरूप इन शिविरों में सभी जरूरी व्यवस्थायें की जा सकें ग्रामीणों को शासकीय योजनाओं का लाभ पहुंचाया जा सके ।

श्री यादव ने बैठक में राष्ट्रपति के आगमन की तैयारियों पर भी चर्चा की और अधिकारियों को सौंपे गये दायित्वों को तय समय सीमा के भीतर पूरा करने के निर्देश दिये ।  उन्होंने सड़कों की मरम्मत और पुनर्निर्माण का कार्य भी शीघ्र पूरा करने की हिदायत अधिकारियों को दी ।  बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, संदीप जीआर एवं वी.पी. द्विवेदी भी मौजूद थे ।