कई थाना क्षेत्र में लूट मचाई, पुलिस के चंगुल में ऐसे फंस गई पूरी गैंग

शेयर करें:

जबलपुर। जिले के कई थाना क्षेत्र से शातिर लुटेरों की गैंग को पकड़ने में अधारताल पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी। थाना अधारताल प्रभारी शैलेष मिश्रा के नेतृत्व में गठित टीम को 4 लुटेरों से सहित एक 16 वर्षिय किशोर से छीने हुये 4 मोबाईल सहित 9 मोबाईल कीमती डेढ लाख रूपये के जप्त करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है।

पुलिस के चंगुल में ऐसे फंस गई ये गैंग

विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि 05 युवक शोभापुर ब्रिज के नीचे महगें मोबाईलों को कम दामों मे बेचने कीे फिराक में खडे है, सूचना पर तत्काल घेराबंदी करते हुये मुखबिर के बतायेनुसार खडे 5 युवकों को पकडा गया, सभी ने पूछताछ पर अपने नाम आशीष उर्फ छोटू चैधरी, मोह. अनीस, मोह. समीर अंसारी, सुशांत विश्वकर्मा, एवं 16 वर्षिय किशोर बताया तलाशी ली गयी तो 9 टच स्क्रीन मोबाईल कब्जे मे रखे हुये मिले, जिनके सम्बंध में पूछताछ करने पर कोई संतोषप्रद उत्तर नहीं दिये, थाने लाकर सघन पूछताछ की तो अधारताल क्षेत्र से 4 , कोतवाली क्षेत्र से 2 एवं विजयनगर क्षेत्र से 2, एवं गोहलपुर क्षेत्र से 1- मोबाईल छीनना स्वीकार किये, 9 मोबाईल सहित घटना में प्रयुक्त 1 हीरो हाण्डा स्प्लेण्डर, एवं 1 एक्टीवा जप्त करते हुये थाना अधारताल के 2 तथा कोतवाली एंव विजय नगर के 1-1 उपरोक्त अपराधों में विधिवत गिरफ्तार कर अन्य मोबाईलों के धारकों के सम्बंध में पतासाजी की जा रही है।

इन थाना क्षेत्र में दे रहे थे घटना को अंजाम

शातिर लुटेरों की गैंग पिछले कई दिनों से अलग अलग थाना क्षेत्र में मोबाइल छीनने की घटना को अंजाम दे रहे थे। 14 फरवरी को थाना अधारताल में दो घटनाओं को अंजाम दिया। वीरेन्द्र विश्वकर्मा उम्र 40 वर्ष निवासी संजय नगर कमेटी हाल ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह सिंगरौली में इलेक्टिशियन का काम करता है शाम लगभग 7 बजे वह सतेन्द्र मेडिकल से दवा खरीद कर पैदल अपने घर जा रहा था मिल्क स्कीम के पास पहुचा तभी उसके मोबाइल पर घर से फोन आया तो वह मोबाइल पर बात करते हुये अपने घर की ओर जाने लगा, जैसे ही संजय नगर पावर हाउस के पास पहुचा उसी समय एक मैहरून कलर की स्कूटी में तीन लड़के जिनकी उम्र लगभग 18-20 वर्ष रही होगी पीछे से आये और बात करते समय उसका मोबाइल रियल मी 5 एस कीमती 10 हजार रूपये का छीन कर कर भाग गये। रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वहीँ एक दूसरी घटना सचिन बर्मन उम्र 19 वर्ष निवासी तालाब के पास अमखेरा ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह प्राईवेट काम करता है रात लगभग 9 बजे अपने मौहल्ले के हनुमान मंदिर के बाहर बैठकर मोबाइल पर गेम खेल रहा था उसी समय एक काले रंग की मोटर सायकिल में तीन लड़के बैठकर आये और मोटर सायकिल रोके, एक लडका मोटर सायकल स्टार्ट किये था, मोटर से एक लड़का उतरकर उसके पास आया और हाथ से उसका मोबाइल रियल मी 7 छीन कर दौड़ लगाकर मोटर सायकल में बैठ गया। रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वहीँ थाना केातवाली में 14 फरवरी को विशाल केवट उम 17 वर्ष निवासी आगा चैक लार्डगंज ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि शाम लगभग 7-30 बजे दमोहनाका से पैदल अपने दोस्त विकास विश्वकर्मा से मोबाईल पर बात करते हुये घर जा रहा था जैसे ही बल्देवबाग हरदौल मंदिर के पास पहुचा उसी समय दमोहनाका की ओर से एक ब्राउन ब्लेक कलर की एक्टिवा स्कूटी पर 2 अज्ञात लड़के तथा एक ब्लेक ग्रे कलर की स्पेलेण्डर मोटर सायकल पर 2 अज्ञात लड़के पीछे से उसके पास आये और एक्टिवा में बैठे हुये पीछे वाले लडके ने उसके मोबाइल पर हाथ से झपट्टा मारकर उसका मोबाइल छीन लिया तो वह एक्टिवा के पीछे दौड़ा तभी बराबर में चल रही स्पेलेण्डर मोटर सायकिल में बैठे 2 अज्ञात लडकों ने एक्टिवा में बैठे अपने साथी लडकों केा तेज भागने के लिये बोले और चारों लडके उसका मोबाइल छीनकर दीक्षितपुरा की ओर भाग गये, उसका मोबाइल ओप्पो ए 53 कम्पनी का कीमती 12 हजार रूपये का है, कवर के अंदर 100 रूपये का नोट एवं बिल की फोटोकापी रखी है । रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।

वहीँ थाना विजयनगर में 14 फरवरी को आलोक उरमलिया उम्र 19 वर्ष निवासी साहू जी का मकान एसबीआई चैक ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि शाम लगभग 7-15 बजे वह एसबीआई चैक के पास बड़े भाई अंकित उरमलिया के आने का इंतजार करते हुये रोड के बाजू में खड़े होकर मोबाइल से अपने बड़े भाई अंकित से बात कर रहा था उसी समय एक स्कूटी मेहरून कलर में 2 अज्ञात लड़के उम्र लगभग 20-22 वर्ष होगी आये और उसके बाजू से स्कूटी सटा दिये, पीछे बैठे लडके ने उसका मोबाइल हाथ से छीन लिया और दोनेां तेजी से स्कूटी से भाग गये। रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटित हुई घटनाओं को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा सभी राजपत्रित अधिकारियो एवं थाना प्रभारियो को मोेबाईल लूटने वाले आरोपियो की पतासाजी कर उनके शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित था। जिसके परिपालन में आज अधारताल पुलिस के चंगुल ये गैंग फंस गई। उल्लेखनीय है कि पकड़ा गया आरोपी आशीष उर्फ छोटू चैधरी पूर्व में लूट के अपराध में पकड़ा जा चुका है तथा मोह. समीर अंसारी के विरूद्ध थाना हनुमानताल में हत्या का अपराध पंजीबद्ध है।

उल्लेखनीय भूमिका-

एक 16 वर्षिय किशोर सहित 5 लुटेरों को गिरफ्तार कर छीने हुये 9 मोबाइल जप्त करने मे थाना प्रभारी अधारताल थाना प्रभारी शैलेष मिश्रा, उप निरीक्षक अनिल कुमार, महेद्र जायसवाल, आरक्षक रितेश शुक्ला, देवेन्द्र सिह, मोहन सिंह, पंकज सिंह राजपूत, हितेन्द्र, सुनील दुबे तथा सायबर सेल के आरक्षक अमित, दुर्गेश, चंद्रिका की सराहनीय भूमिका है । पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है ।