‘लॉकी’ रैंसमवेयर का अटैक एक बार फिर शूरू

शेयर करें:

लॉकी रैंसमवेयर के फिर से उभरने और ईमेल को बाधित करने के अभियान के बीच इसे वर्ष 2017 का सबसे बड़ा मालवेयर अभियान कहा गया है।

लॉकी रैंसमवेयर के फिर से उभरने और ईमेल को बाधित करने के बीच सरकार ने अलर्च जारी कर दिया है। जिस रैंसमवेयर हमले को समाप्त मान लिया गया था अब फिर से इसके खतरे बरकरार हैं और यह इससे साबित होता है कि 28 अगस्त को मात्र 24 घंटे के अंदर अमेरिका में करीब 23 लाख ईमेल मालवेयर भेजे गए।

बताया गया कि मालवेयर पेलोड एक जिप फाइल में विजुअल बेसिक स्क्रिप्ट (वीबीएस) फाइल में छिपा हुआ था, जिसे एक बार क्लिक करने पर, लॉकी रैन्समवेयर का नवीनतम संस्करण डाउनलोड हो जाएगा।भारतीय कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (आईसीईआरटी) के मुताबिक, ‘स्पैम मेल्स’ का इस्तेमाल रैंसमवेयर को फैलाने के लिए किया जा रहा है।

एजेंसी ने सभी उपयोगकर्ताओं को मेल खोलते समय सावधानी बरतने और संदिग्ध फाइल संलग्नक से बचने की हिदायत दी है। इसके साथ-साथ संगठनों को स्पैम ब्लॉक सूचियों और स्पैम अवरोधों को अपडेट करने के दौरान सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।