जबलपुर : एंबुलेंस से की जा रही थी शराब की तस्करी

शेयर करें:

जबलपुर। कोरोना वायरस संक्रमण के बीच मरीजों को लाने ले जाने के लिए उपयोग की जा रही एम्बुलेंस में शराब की तस्करी की जा रही है। जबलपुर की तिलवाराघाट थाना पुलिस ने शराब तस्करी में लगी दो एम्बुलेंस को जप्त किया है साथ ही इन एम्बुलेंस से सैकड़ों लीटर कच्ची शराब भी बरामद की है।

पुलिस कप्तान सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि एक एम्बुलेंस क्रेशर बस्ती से पकड़ी गई है दूसरी रामनगरा से पकड़ी गई। इनमें दो बोरी शराब मिली है। जिसमें एक आरापी भाग गया है जिसकी तलाश की जा रही है जबकि जय कुशवाहा पकड़ा गया है. उससे पूरी जानकारी इकट्ठी की जा रही है कि इस व्यापार में कौन कौन लगे हैं। पुलिस तह तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने दी दबिश
तिलवाराघाट थाना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि भैरव नगर के पास एक एम्बुलेंस खड़ी हुई है और उसमें अवैध शराब है।सूचना के बाद मौके पर पहुँची पुलिस ने जब जाँच की तो पाया कि एम्बुलेंस बंद है बमुश्किल वाहन को खोल कर चैकिंग की तो एक बड़ी बोरी में पॉलिथीन में कच्ची शराब भरी हुई थी।वही दूसरी एम्बुलेंस को मुखबिर की सूचना पर तिलवाराघाट थाना पुलिस ने रामनगरा के पास से पकड़ा है जिसमें भी कच्ची शराब रखी हुई थी।

एम्बुलेंस को देखते ही पुलिस दे देती है रास्ता
कार्यवाही के दौरान तिलवाराघाट थाना प्रभारी रीना पांडेय ने बताया कि आम तौर पर कोरोना वायरस सक्रमण के कारण चेक पोस्ट पर खड़ी पुलिस बिना चेकिंग के ही एम्बुलेंस को आने जाने देती है जिसका एम्बुलेंस चालको ने फायदा उठाया है जो कि चिंता का विषय है।

मेडिकल कॉलेज में खड़ी रहती थी दोनो निजी एम्बुलेंस
अवैध शराब से भरी दोनो ही एम्बुलेंस निजी है जो कि मेडिकल कॉलेज में खड़ी रहती है और मरीजों को लाने ले जाने का काम करती है।बताया जा रहा है कि ये एम्बुलेंस मेडिकल निवासी सुरेंद्र बाल्मीक और शारदा बाल्मीक की है जिसे की अज्जू यादव और जय कुशवाहा चलाया करते थे।फिलहाल पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है और पूछताछ कर रही है।