छः करोड़ की लागत के परिवहन कार्यालय का शुभारम्भ

शेयर करें:

 

रतलाम @ जिले को नया परिवहन कार्यालय एक अच्छी सौगात हैं। इस कार्यालय के बनने से जनसामान्य को परिवहन कार्यालय से संबंधित सेवाओं को प्राप्त करने में आसानी होगी। आज के डिजिटल युग में परिवहन विभाग को लायसेंस जारी करने के साथ -साथ आवश्यकता अनुसार सड़कों पर साईनेज आदि लगाना चाहिए। पहले की अपेक्षा अब घर-घर में परिवहन के साधन उपलब्ध होने से सेवाओं की मांग भी बड़ी है। विभाग में स्टाफ की कमी को पूरा करने के लिये विभागीय मंत्री से समन्वय कर स्टाफ उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा। यह बात रतलाम जिले के प्रभारी मंत्री एवं म.प्र.शासन तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास (स्व.प्र.) स्कूल शिक्षा, श्रम विभाग दीपक जोशी ने परिवहन कार्यालय के शुभारम्भ अवसर पर कही। सम्भागीय परियोजना यंत्री सी.एस.नीम ने बताया कि नया परिवहन कार्यालय लगभग छः करोड़ की लागत से निर्मित हुआ है। यह कार्यालय 27 हजार वर्गफीट के क्षेत्रफल में निर्मित किया गया है। कार्यालय में आवश्यकतानुसार यूटिलिटी ब्लॉक बनाये गये है। 650 मीटर की बाउण्ड्री के साथ कार्यालय में लगभग 21 कमरे स्थित है। इसमें सीसी रोड़ बनाया गया है। पर्याप्त पार्किग की व्यवस्था के साथ ड्रायविंग टेस्टिंग ट्रेक बनाया गया है।

वित्त आयोग के अध्यक्ष हिम्मत कोठारी ने कहा कि परिवहन कार्यालय में लम्बे समय से कार्यालय की समस्या बनी हुई थी जिसके कारण रिकार्ड संधारण, टेस्टिंग ट्रेक आदि कार्यो में कठिनाईयॉ हो रही थी। अब नया ट्रेक बनने से समस्याऐं हल होगी। उन्होने कहा कि राजस्व अर्जित करने वाले विभागों में शासन स्तर से स्टाफ की समस्या कम की जाना चाहिए तथा राजस्व की चोरी को रोकने के हर सम्भव प्रयास करना चाहिए।कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष प्रमेश मईड़ा ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को नया परिवहन कार्यालय बनवाने के लिये साधुवात दिया जाना चाहिए।राज्य योजना मण्डल के उपाध्यक्ष तथा शहर विधायक चेतन्य काश्यप ने कहा कि परिवहन विभाग को टेस्टिंग ट्रेक पर परीक्षण उपरांत योग्य लोगों को ही लायसेंस जारी करना चाहिए ताकि दुर्घटनाओं से बचा जा सकें। उन्होने बताया कि मध्यप्रदेश के बेहतरीन आठ ट्रेक में से एक ट्रेक रतलाम जिले का भी है। आगामी समय में कम्प्युटर आधारित पद्धतियों से लायसेंसिंग प्रक्रिया की जाये।

सांसद कांतिलाल भूरिया ने कहा कि रतलाम जिले में विकास कार्यो में सभी दलों के जनप्रतिनिधियों को एक साथ मिलजुल कर कार्य करना होगा। सबके सहयोग से ही विकास की श्रंखला आगे बढ़ती है। आगामी समय में सभी के सहयोग से रतलाम जिले को 2025 में होने वाले सीमाकंन के समय सम्भाग का दर्जा दिलाने का प्रयास किया जायेगा।कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों के द्वारा वृक्षारोपण का कार्य किया गया। कार्यक्रम में विधायक जावरा डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय, विधायक आलोट जितेन्द्र गेहलोत, विधायक सैलाना श्रीमती संगीता चारेल, विधायक ग्रामीण मथुरालाल डामर, जिला पंचायत के अध्यक्ष प्रमेश मईड़ा, महापौर डॉ. सुनिता यार्दे, पार्टी अध्यक्ष कान्हसिंह चौहान, कलेक्टर श्रीमती तन्वी सुन्द्रियाल, एसपी अमितसिंह आदि उपस्थित रहे।