घुटने का प्रत्यारोपण कराना हुआ सस्ता

शेयर करें:

केंद्र सरकार के फ़ैसले के बाद अब घुटने का प्रत्यारोपण कराना सस्ता हो गया है। सरकार ने उन सभी उपकरणों की क़ीमत तय कर दी है, जो घुटनों के प्रत्यारोपण में काम आते हैं। घुटनों के प्रत्यारोपण में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले कोबाल्ट क्रोमियम, जिसकी कीमत पहले 1 लाख 58 हजार तक थी वो अब 54 हजार 720 रुपये में मिलेगा।

इसके अलावा टाइटेनियम और ऑक्सीडाइज्ड जिरकोनियम की क़ीमत अभी तक बाजार में ढाई लाख रुपये तक थी जिसकी कीमत अब अधिकतम 76 हजार रुपये तक तय की गई है। हाई फ्लेक्सिबिलिटी इम्पलांट उपकरण की जो कीमत 1 लाख 81 हजार थी केंद्र सरकार ने उसकी कीमत 54 हजार 490 रुपये तय की है।

इसके अलावा रिविजन इम्प्लांट्स फोर सेकेंड सर्जरी की क़ीमत 2 लाख 76 हजार रुपये थी, जो केंद्र सरकार के फ़ैसले के बाद 1 लाख 39 हजार रुपये में उपलब्ध होगा। दरअसल जीवनशैली में बदलाव और ऑर्थराइटिस की वजह से लोगों के घुटने खराब होते जा रहे हैं। लोगों को सस्ती दर पर गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधा मिल सके इसके लिए केंद्र सरकार हर संभव कदम उठा रही है।