कातिल प्रेमीका का खूनी खेल: प्यार के वश में प्रेमी की हरगढ के जंगल में ऐसे रची हत्या की साजिश

शेयर करें:

जबलपुर / सिहोरा। थाना खितौला अंतर्गत 24 मई को पान उमारिया रोड किनारे हरगढ़ जंगल में एक हीरो कंपनी की सीडी डिलक्स मोटर सायकल खड़ी है तथा उससे कुछ दूर नरकंकाल पड़े होने की सूचना पुलिस को मिली थी। मौके पर पहुचकर तस्दीक किया मृतक के बड़े भाई नारायण पिता तुलसीराम पटेल उम्र 28 निवासी ग्राम गुरजी थाना सिहोरा जिला जबलपुर के द्वारा बताया कि सोनू पटेल पिता तुलसीराम पटैल उम्र 26 साल निवासी ग्राम गुरजी थाना सिहोरा इसका मझला भाई है दिनांक 16 मई की सुबह 10.00 बजे सोनू घर से मोबाईल सुधारवाने को कहकर सिहोरा मोटर सायकल क्र0 डच् 20 डस् 0796 हीरो होण्डा से आया था जो घर वापस नहीं आया था जिसकी आसपास रिश्तेदारों के यहां तलाश पता किये जिसका कोई पता नहीं चलने पर 17 मई को थाना सिहोरा में सोनू पटेल के गुमने की रिपोर्ट दर्ज कराये थे।

हरगढ के जंगल में मिला था प्रेमी का नरकंकाल
24 जून को सूचनाकर्ता नारायण पटेल के पिता तुलसीराम पटेल के मोबाईल नं0 पर किसी ने सूचना दिया की हरगढ के जंगल में एक हीरो कंपनी की सीडी डिलक्स मोटर सायकल खड़ी है तथा उससे कुछ दूर मानव के अस्थि पंजर पड़े है जो सूचना मिलने पर नारायण पटेल, परिजन एवं गांव के अन्य लोग हरगढ के जंगल में जाकर गुमइंसान सोनू पटेल के अस्थि पंजर की तलाश किये जो जंगल मंे महुआ की आड़ के नीचे मोटर सायकल खड़ी मिली और जंगल में कुछ दूर आगे अलग-अलग स्थानों पर लाश के अस्थि पंजर, लोवर नीला, टी-शर्ट, बनियान, चप्पल, मास्क, रस्सी सन की पड़ी हुई मिली, जो कपड़े एवं मोटर सायकल देखकर मृतक के भाई नारायण और परिजनों ने सोनू पटेल के अस्थि पंजर होने की पहचान किये। सूचना पर पहुची एफ.एस.एल. टीम की उपस्थिति में पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच में लिया गया है। पी0एम0 रिपोर्ट में मृतक की मृत्यु सिर में गंभीर चोट आने से होना लेख किया, जो प्रथम दृष्टया धारा 302 भादवि का अपराध अज्ञात आरोपी द्वारा घटित होना पाये जाने से प्रकरण पंजीबद्ध विवेचना में लिया गया।

ऐसे सुलझी मौत की गुत्थी
थाना खितौला एवं थाना सिहोरा की टीम गठित कर लगाई गई। मर्ग जांच के दौरान मृतक के परिजनों ने मृतक सोनू पटेल के प्रेम संबंध उसके जीजा साहिल पटेल निवासी ग्राम मड़ई की छोटी बहन मधु पटेल से होना बताये थे साथ ही पतासाजी पर ज्ञात हुआ था कि घटना के दिन मधु पटेल अपनी बुआ की लडकी के साथ हरगढ के जंगल की तरफ से हडबडाहट में तेजी से आते हुए दिखी थी। संदेही मधु पटेल को अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूछताछ की गई जिसने सोनू पटेल की हत्या करना स्वीकार करते हुये बताया कि पिछले दो सालों से उसके एवं सोनू पटेल निवासी ग्राम गुरजी थाना सिहोरा के बीच प्रेम संबंध थे, सोनू पटेल की बहन निधि पटेल का विवाह उसके बड़े भाई साहिल पटेल के साथ वर्ष 2016 में हुआ था तब से वह एवं सोनू दोनों एक दूसरे के साथ शादी करना चाहते थे, परंतु सामाजिक रीति रिवाज के कारण दोनों का विवाह नही हो सकता था।

शादी तोड़वाने के लिए बनाया अश्लील विडियों
इसी बीच सोनू का विवाह ग्राम बासन थाना बहोरीबंद जिला कटनी की रहने वाली कु गायत्री पटेल से तय हो गया था अप्रैल-मई 2021 से सोनू पटेल बात-बात में झूठ बोलने लगा था तथा उसकी तरफ ध्यान देना बंद कर दिया था, इसी बीच उसका भी ग्राम पटी थाना रैपुरा के विजय पटेल के साथ रिष्ता तय हो गया था। करीब 3-4 माह पूर्व सोनू पटेल उसके घर ग्राम मढ़ई आया था, दोनों के बीच आपस में प्रेम संबंध बने थे, सोनू पटेल के द्वारा प्रेम संबंध का अश्लील विडियों बना लिया गया था तथा सोनू पटेल ने वही विडियों उसे वाॅट्सएप पर भेजा था। वह सोनू से शादी करने को कहती थी तो सोनू कहता था कि ये अष्लील विडियों घर में सब को दिखा दो तो हम दोनों की शादी टूट जायेगी।

जंगल के अंदर कातिल प्रेमीका का खूनी खेल
दिनांक 14 मई एवं 15 मई को सोनू उससे फोन पर बात करके आखरी बार प्रेम संबंध बनाने को कह रहा था, दिनांक 16मई को उसकी और सोनू की 3-4 बार फोन पर बात हुई थी तब उसने सोनू से बोला कि ‘‘ठीक है मैं तुम्हारे साथ प्रेम संबंध बनाउगी परंतु मैं जैसा-जैसा बोलूगी तुम्हे वैसा-वैसा करना पड़ेगा‘‘ करीब 09.45 बजे सुबह सोनू मोटर सायकल लेकर सिद्धन के पास आया, योजना के मुताबिक वह अपनी बुआ की लड़की के साथ बेैग में रस्सी, रूमाल रखकर सिद्धन के पास पहुंचे जहां सोनू की मोटर सायकल में बैठकर तीनों हरगढ़ के जंगल पहुचे, जंगल के अंदर महुआ झाड़ के नीचे सोनू ने मोटर सायकल खड़ी कर दिया, बहन को वहीं खड़ा करके वह सोनू के साथ झाड़ियों के और अंदर चली गई, उसने बेग में रखा स्टाॅल जमीन पर बिछाया जिसमें सोनू लेट गया फिर उसने बेग से रस्सी निकालकर हाथ और पैर बांध दिया तथा आंख में रूमाल बांध दिया फिर उसने सोनू को पेट के बल पर पट कर दिया तथा पास में रखे बड़े पत्थर से सोनू के सिर में 3-4 बार जोर जोर से मारी तथा पीट, कंधा व शरीर में 8-10 बार पत्थर से मार कर पत्थर को वही झाड़ियों में फेक दिया था, उसके बाद सोनू की आंखों में बांधा रूमाल खोल लिया। तथा जमीन पर बिछाया स्टाॅल सोनू को हटाकर निकाल लिया जिसमें खून लगा था तथा सोनू के पास रखे एटीएम कार्ड, आधार कार्ड एवं मोबाईल सभी चीजों को अपने बेग में रख लिया, तथा आवाज देकर छोटी बहन को बुलाया छोटी बहन देखकर बोलने लगी की सोनू को क्या हो गया है, तब उसे बताया की इसे पत्थर से मार दिया है। दोनों घबराहट में जंगल से निकलकर पैदल-पैदल रोड पर आ गये जहां एक मोटर सायकल वाले राहगीर से लिफ्ट लेकर दोनों ग्राम कुर्रे गांव तक आ गये जहां से पैदल-पैदल अपने गांव मढ़ई पहुचे, फिर घर पहुच कर उसने स्टाॅल, मोबाईल, एटीएम कार्ड तथा रूमाल को जला कर कचरे के साथ घर के बाहर फेक दिया था।

आरोपी मधु पटेल की निषादेही पर बेैग जिसमे रस्सी रखी थी, सोनू पटेल का आधार कार्ड जप्त किया तथा, घटना स्थल से एक मोटर सायकल, 02 नग टुटी सन की रस्सी, लोवर नीला, टी-शर्ट, बनियान, चप्पल, मास्क जप्त किया गया।
आरोपी मधु उर्फ रेखा पिता नारायण पटेल उम्र 20 साल निवासी ग्राम मढ़ई थाना सिहोरा एवं अपचारी किशारी को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर आज दिनांक 11/06/2021 को माननीय न्यायालय के समक्ष पेष किया जा रहा है।

उल्लेखनीय भूमिका– अंधी हत्या का खुलासा करने में थाना प्रभारी खितौला श्रीमति जगोतिन मसराम, थाना प्रभारी सिहोरा गिरीष धुर्वे, थाना खितौला के उप निरीक्षक के0एल0 चैधरी कार्यवाहक उप निरीक्षक के0पी0 दुबे, सहायक उप निरीक्षक जी0सी0 चैधरी, आरक्षक अमित रैकवार, मेराजुद्दीन खान, अंजू धुर्वे, चालक आरक्षक रमेष रैदास, थाना सिहोरा से उप निरीक्षक रविन कन्नौज, आरक्षक राजेष पटेल, हेमन्त शर्मा, राजीव सिंह, धनेष्वर सिंगौर, प्रार्ची सिंह परिहार, एस.डी.ओ.पी. कार्यालय से नीरज चैरसिया, सायबर सेल से आदित्य कुमार, नवनीत चक्रवर्ती की उल्लेखनीय भूमिका रही।