ओखी तूफ़ानः प्रधानमंत्री ने लिया स्थिति का जायज़ा

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को चक्रवाती तूफ़ान ओखी के मद्देनज़र पैदा हुई स्थिति की समीक्षा की और संबंधित अधिकारियों से बात की. प्रधानमंत्री ने प्रभावित लोगों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. प्रधानमंत्री ने भाजपा कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे तूफ़ान पीड़ितों की मदद में जुट जाएं.

दक्षिण के कई राज्यों में तबाही मचाने के बाद ओखी चक्रवाती तूफान अब महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ चला है. मौसम विभाग के मुताबिक तूफान तटीय सौराष्ट्र और महाराष्ट्र के उत्तरी कोंकण इलाके से टकरा सकता है. इससे गुजरात के कई क्षेत्रों जैसे वलसाड़, सूरत, नवसारी, भरुच डांग तापि अमरेली, गिर सोमनाथ और भावनगर में भारी बारिश हो सकती है. मछुआरों को अगले तीन दिनों तक समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है. आज शाम तक ओखी तूफान सूरत पहुंच सकता है. ओखी के चलते महाराष्ट्र में बारिश हो सकती है। एहतियात के तौर पर मुंबई में स्कूलों को बंद रखा गया है.

सूरत के डीएम महेंद्र पटेल ने कहा कि चक्रवात तूफान ओखी से बचाव के लिए प्रशासन पूरी तरह सतर्क है. लोगों को रात में बाहर न निकलने की सलाह दी गई है और साथ ही लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है. महेंद्र पटेल ने साथ ही कहा कि सूरत में एनडीआरएफ अलर्ट पर है और यहां चार कंपनियां तैनात है.