न्यायाधीशों की प्रेस कॉन्फ्रेंस ग़ैरज़रूरी: बार एसोसिएशन

शेयर करें:

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने कहा है कि शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले चारों न्यायाधीधों को मामले को सार्वजनिक करने से बचना चाहिए था. उन्होंने कहा कि इस मामले को इस स्थिति तक ले जाने से बचा जा सकता था.

सर्वोच्च न्यायालय बार एसोसिएशन आज बैठक कर हालात पर चर्चा करेगी. शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों ने शीर्ष अदालत में प्रशासकीय खामियों को लेकर मीडिया के सामने चिंता ज़ाहिर की थी.

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने भी कहा है कि सुप्रीम कोर्ट मामले को इस स्थिति तक ले जाने से बचा जा सकता था. वेणुगोपाल ने शुक्रवार को प्रधान न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा से मुलाक़ात की थी. जिसके बाद उन्होंने कहा था कि न्यायाधीशों को आपस में मिल बैठकर इस मामले को सुलझाना चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट के चार न्यायाधीशों की तरफ से की गई प्रेस कांफ्रेंस को भारतीय जनता पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट का आंतरिक मामला कहा है. प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद कांग्रेस अध्यक्ष की ओर से की गई टिप्पणी को लेकर भाजपा ने कांग्रेस को आड़े हाथ लिया है. पार्टी ने कहा है कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.