जन्माष्टमी के प्रसाद की रेसिपीज

शेयर करें:

जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल को लगा सकती हैं आप इन प्रसादों का भोग (रेसिपी सहित) सब जानते हैं कि कोई भी भारतीय पर्व बिना मिठाइयों के पूरा नहीं होता है। जन्माष्टमी के दिन भी भगवान कृष्ण के प्रसाद के लिए अलग-अलग तरह के पकवान बनाते हैं। बांकेबिहारी जी को जन्माष्टमी के दिन लगाए जाने वाले मुख्य प्रसाद (Janmashtami Prasad Recipes) निम्न हैंः

  • माखन मिश्री का भोग
  • पंचामृत
  • आटे की पंजीरी
  • गरी मखाने का पाग
  • नारियल धनिया की बर्फी

जन्माष्टमी के प्रसाद की रेसिपीज 

जन्माष्टमी पर प्रसाद के लिए अनेकों मिठाइयाँ बनाई जाती है। अगर आप सोच रही हैं कि जन्माष्टमी के दिन घर पर प्रसाद कैसे बनाएं तो हाजिर है भगवान श्रीकृष्ण के लिए जन्माष्टमी के कुछ विशेष प्रसादों की रेसिपीज :

#1. पंचामृत बनाने की आसान विधि

भगवान के चरणामृत और प्रसाद के लिए पंचामृत बनाया जाता है, कई बार लोग इसकी सामग्री और विधि समझ नहीं पाते हैं। जाने क्या हैं पंचामृत की विधि (Panchamrit Banane ki Vidhi) –

सामग्री-

  • दही- 300 ग्राम (लगभग 2 कप)
  • कच्चा दूध-150 ग्राम (आधा कप)
  • चीनी- 100 ग्राम या गुड़ हो तो सर्वोत्तम
  • शहद- 2 चम्मच
  • एक चम्मच घी
  • मखाने- 8-10
  • तुलसी के पत्ते- 10-12
  • गंगा जल एक कप
  • किशमिश – 10 से 20 दाने
  • पीसी हुई इलायची (एक चौथाई चम्मच)
  • चिरौंजी- थोड़े से

विधि-

  • सबसे पहले दही को एक बड़े बर्तन में निकल लें। अब दही को अच्छी तरह से मथ लें यानि मिला लें।
  • अब दही में चीनी, ठंडा दूध, घी, शहद व बाकि साम्रगी डालकर अच्छे से चम्मच से मिलाएं।
  • मखाने के थोड़े छोटे-छोटे टुकड़े करते हुए मिश्रण में डाल कर मिलायें।
  • सबसे आखिरी में तुलसी के पत्ते पूरे या बारीक़ काट कर मिश्रण में मिलायें।

चरणामृत तैयार है। भारतीय मान्यता के अनुसार पंचामृत में बहुत औषधीय गुण होते हैं और ये बहुत सी बिमारियों से हमारी रक्षा करता है। याद रखें पंचामृत में गंगाजल, शहद व तुलसी के पत्तों का विशेष महत्व होता है। इसे अवश्य डालें।

#2. आटे की पंजीरी : जन्माष्टमी का प्रसाद

आटे की पंजीरी भी जन्माष्टमी पर बनायें जाने वाले प्रसाद में से एक है। चलिए अब बनाते जन्माष्टमी प्रसाद आटे की पंजीरी (Aate ki Panjiri):

सामग्री-

  • आटा- 3 कप
  • चीनी- 1 कप
  • सूखे मेवे- ½ कप कटे हुए काजू, पिस्ता, बादाम
  • खरबूजे के बीज- 1 बड़ा चम्मच
  • घी- 4 से पांच बड़े चम्मच
  • चिरौंजी- 100 ग्राम
  • तुलसी के पत्ते- 4 से 5

विधि-

  • सबसे पहले कढाई को आंच पर गर्म कर उसमें खरबूजे के बीज डालें और सुनहरा होने पर निकाल लें।
  • उसके पश्चात सूखे मेवे डाल कर सुनहरा होने तक भूने और अलग निकाल लें।
  • अब कढाई में घी डालें और और गर्म होने पर उसमें आटा डाल दें। आटे के सुनहरा भूरा होने के बाद उसमें पिसी हुई चीनी डाल दें।
  • आखिरी में खरबूजे के बीज और मेवे डालकर सामग्री को चलायें और थोड़ी देर में उतार दें।
  • आटे की पंजीरी तैयार है। इसमें भगवान श्री कृष्ण के प्रिय तुलसी के पत्तों को मिलाकर भोग लगाएं। आप चाहें तो इसमें भूने हुए मखाने भी डाल सकती हैं।