जनकपुर-अयोध्या बस सर्विस को दिखाई हरी झंडी

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनकपुर से उत्‍तर प्रदेश के अयोध्‍या तक इंडो-नेपाल बस सर्विस को हरी झंडी दिखाई। इसके साथ ही अब आसानी से दोनों देशों के लोग मां सीता की जन्मस्थली से भगवान श्रीराम की जन्मस्थली तक पहुंच सकेंगे। पीएम मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने संयुक्त रूप से देवी सीता के जन्म स्थान जनकपुर से भगवान राम के जन्म स्थान अयोध्या को जोड़ने वाले रामायण सर्किट बस मार्ग का उद्घाटन किया। जनकपुर ने माता सीता और भगवान राम को देखा, जनकपुर-अयोध्या बस सर्विस के लिए नेपाल सरकार का आभार। ये भारत और नेपाल के लिए अहम है।

क्यों खास है ये दौरा?

नेपाल में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के पिछले कार्यकाल में भारत के साथ नेपाल के रिश्तों में कड़वाहट आई थी। जिसका नतीजा ये हुआ कि भारत का सबसे करीबी पड़ोसी मुल्क नेपाल चीन के करीब चला गया। ऐसे में रिश्ते की कड़वाहट को खत्म करने के लिए इस दौरे के खास मायने निकाले जा रहे हैं।

  • 2016 में केपी शर्मा ओली ने सार्वजनिक तौर पर भारत की आलोचना की थी। उन्होंने भारत पर नेपाल के आतंरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था।
  • नेपाल में नए संविधान को लेकर मधेसियों के द्वारा किए गए विरोध में भी नेपाल ने भारत पर आरोप लगाए थे।
  • नेपाल ने भारत पर मधेसियों को उकसाने का आरोप लगाया था। बता दें कि मधेसियों की एक बड़ी आबादी भारतीय मूल की है।