Complete Lockdown India: क्या सरकार कर रही संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी, जानें क्या है ताजा अपडेट ?

शेयर करें:

नई दिल्ली। भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है. देश में बीते 10 दिनों से ज्यादा समय से रोजाना 3.5-4 लाख नए मामले सामने आ रहे हैं. कोरोना के कहर को कम करने के लिए देश के 20 से ज्यादा राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) जैसी पाबंदियां लागू हैं फिर भी मामलों में कमी नहीं आ रही है.

उधर, केंद्र सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. के विजय राघवन ने एक और चेतावनी जारी की है. उन्‍होंने कहा है कि देश में कोरोना की तीसरी लहर (Coronavirus Third Wave) को टाला नहीं जा सकता. इन सबके बीच राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की मांग भी तेज हो रही है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने भी देश में कोरोना की दूसरी लहर को काबू पाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों से लॉकडाउन (Lockdown) पर विचार करने को कहा है.

इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या केंद्र सरकार पिछले साल की तरह पूरे देश में लॉकडाउन लगाएगी? स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल से जब यह सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए राज्य सरकारों को प्रतिबंधों को लेकर दिशा निर्देश दे चुकी है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर आने वाले समय में कुछ और करने की जरूरत पड़ती है तो उसके सभी विकल्पों पर चर्चा की जा सकती है.

वीके पॉल ने कहा, अगर संक्रमण बहुत बढ़ता है तो चेन को तोड़ने के लिए प्रतिबंध लगाया जाता है. लोगों की आवाजाही रोकी जाती है. इस संबंध में 29 अप्रैल को डिटेल में गाइडलाइंस जारी की गई थी. इसमें कहा गया था कि हमें ट्रांसमिशन को रोकना है और जिन इलाकों में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा है, वहां पर राज्य सरकारों को नाइट कर्फ्यू की सलाह दी गई है. राज्य सरकारें फैसला लेंगी. इसके अलावा, सामाजिक, राजनीतिक, खेल, धार्मिक जुटान पर भी पूरी तरह से रोक है.

उन्होंने कहा कि इसके अलावा साफ-साफ कहा गया है कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश स्थानीय हालात का आंकलन करें और उस हिसाब से फैसला लें. इस एडवाइजरी के आधार पर राज्य सरकारें फैसला ले रहे हैं. इन गाइडलाइंस के अलावा अगर कुछ और जरूरत पड़ती है तो उन विकल्पों पर भी विचार किया जाता है.

उधर, देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,82,315 कोविड-19 के नए मामले दर्ज किए गए हैं. इस दौरान सबसे ज्यादा 3,780 लोगों ने कोरोना वायरस की वजह से अपनी जान गंवाई है. इसके साथ ही भारत में 2,26,188 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है. देश में अभी 34,87,229 एक्टिव मामले हैं. वहीं, पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो वह 24.80% हो गई है.