भारत के सबसे बड़े दिव्यांग पार्क निर्माण होगा – केंद्रीय मंत्री गेहलोत

शेयर करें:

उज्जैन @केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत ने सहायक उपकरण निर्माण फेक्टरी एवं दिव्यांगजन वित्त विकास निगम के प्रशिक्षण केंद्र के पश्चात उज्जैन को केंद्र सरकार से एक और सौग़ात दी है। ज़िलाधीश संकेत भोंडवे की पहल पर उज्जैन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जगदीश अग्रवाल ने उज्जैन में दिव्यांग पार्क के निर्माण हेतु सक्रिय भूमिका निभाते हुए केंद्र सरकार को सिपड़ा योजना के तहत कोठी रोड स्थित विक्रम वाटिका में दिव्यांग पार्क निर्माण का प्रस्ताव भेजा था।जिसे केंद्रीय मंत्री गेहलोत की अनुशंसा पर केंद्र सरकार ने स्वीकृत कर प्रथम किश्त के रूप में छियाँनवे लाख की राशि भी जारी कर दी है।

दिव्यांग पार्क के प्रथम चरण का कार्य विकास प्राधिकरण की निधि द्वारा किया जा रहा है।उल्लेखनीय है कि सम्पूर्ण पार्क दिव्यांगजनो हेतु बाधा रहित होगा। इसमें टच, साउंड, टेस्ट एवं स्मेल पार्क, सेंसरी पार्क, हॉल ओफ फ़ेम, व्हील चेयर हेतु पाथ वे के साथ दिव्यांगजनो की क्षमता विकास हेतु प्रशिक्षण केंद्र भी होगा। दृष्टि बाधित दिव्यांगजनो हेतु इसमें ब्रेल संकेतक एवं टेकटाइल टाइलो एवं साउंड सिस्टम के द्वारा पथ प्रदर्शन किया जावेगा।