भारत ने अग्नि-1 बलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

शेयर करें:

भारत ने मंगलवार को देश में ही विकसित की गई अग्नि-1 बलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया। ओडिशा के तट पर परमाणु क्षमता वाली इस मिसाइल का ट्रायल सेना द्वारा किया गया। भारतीय सेना के स्ट्रेटजिक फोर्सेज़ कमांड ने 700 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली मिसाइल को परीक्षण के लिए लॉन्च पैड-4 से संचालित किया। यह लॉन्च पैड ओडिशा के तट से सटे बालासोर में अब्दुल कलाम द्वीप के इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) में स्थित है।

रक्षा सूत्रों के मुताबिक, अग्नि-1 मिसाइल का यह 18वां वर्ज़न था जो निर्धारित समय सीमा में ही सभी मापदंडों पर खरी उतरी। इस मिसाइल को 2004 में सबसे पहले सेवा में लाया गया था। रक्षा सूत्रों ने कहा कि जमीन से जमीन पर वार करने वाली इस सिंगल-स्टेज मिसाइल को सॉलिड प्रॉपलैंट्स द्वारा बनाया गया है। अग्नि-1 को सेना द्वारा नियमित ट्रेनिंग के तहत लॉन्च किया गया था।

सूत्रों ने आगे बताया कि ट्रायल से एक बार फिर यह पुष्टि होती है कि सेना की यह मिसाइल बेहद कम समय में काम करने के लिए तैयार है। अग्नि-1 मिसाइल में एक विशेष नेविगेशन सिस्टम है जिससे यह सुनिश्चित होता है कि यह एकदम सटीक और सही लक्ष्य तक पहुंचे। रेंज और सटीकता के मामले में इसने अपनी शानदार परफॉर्मेंस साबित कर दी है। 15 मीटर लंबी अग्नि-आई का वज़न 12 टन है और यह 1,000 किलोग्राम तक परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम। याद दिला दें कि इससे पहले 22 नवंबर, 2016 में अग्नि-आई का परीक्षण इसी बेस से हुआ था।