भारत में होती है हृदय रोगों से सर्वाधिक मृत्यु

शेयर करें:

हृदय रोग से भारत में करीब 23 प्रतिशत रोगियों की मृत्यु हो जाती है जबकी चीन में यह आंकड़ा मात्र 7 प्रतिशत है। एक वैश्विक शोध में पता चला है कि हृदय गति रुकने के कारण भारत में विश्वभर में सर्वाधिक मौतें होती हैं। हृदय रोग से भारत में करीब 23 प्रतिशत रोगियों की मृत्यु हो जाती है जबकी चीन में यह आंकड़ा मात्र 7 प्रतिशत है।

इंटरनेशनल हार्ट कंजेस्टिव फेलीय संस्थान द्वारा कराए गए इस शोध का मकसद विश्वभर में हृदय रोगों से मरने वाले लोगों की संख्या मालूम करना था। इस शोध में चीन, भारत, ईजिप्ट, कतर, साउदी अरब, मलेशिया, फिलीपिन्स, अरजेनटिना, चीली, कोलंबिया और इक्वाडोर के हृदय रोगी शामिल थे। लैंसेट ग्लोबल हेल्थ जर्नल में प्रकाशित इस शोध में हृदय रोगों से मृत्यु संबंधित चिकित्सीय और सामाजिक-आर्थिक चरों को शामिल किया गया था।

इस अध्ययन के अनुसार दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में हृदय रोगों से मृत्य का आंकड़ा 15 प्रतिशत है जबकि मध्य-पूर्व में यह आंकड़ा 9 प्रतिशत है। चीन में हृदय संबंधित रोगों के कारण मृत्यु दर केवल 7 प्रतिशत है। एम्स और आईसीएमआर द्वारा कराए गए एक अन्य शोध में पता चला है कि 30 साल से कम के भारतीयों को हृदय रोगों का अधिक खतरा है।