उत्साह एवं उल्लास से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

शेयर करें:

रतलाम @स्वतंत्रता दिवस समारोह रतलाम जिला मुख्यालय पर उत्साह एवं उल्लास के साथ मनाया गया। जिला पुलिस लाईन में आयोजित मुख्य समारोह में कलेक्टर श्रीमती तन्वी सुन्द्रियाल ने ध्वजारोहण कर सलामी ली। उन्होने परेड का निरीक्षण किया। श्रीमती सुन्द्रियाल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के प्रदेश की जनता के नाम दिये गये संदेश का वाचन किया। इसके उपरांत हर्ष फायर के माध्यम से जवानों ने तिरंगे को सलामी दी। श्रीमती सुन्द्रियाल ने समारोह में उपस्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बालमुकुन्द साधु, राजमल चौरडि़या का अभिनंदन किया। मध्यप्रदेश गान के साथ ही सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से विद्यार्थियों ने देश प्रेम की भावना से ओतप्रोत कार्यक्रम प्रस्तुत किये। इस अवसर पर महापौर डॉ. सुनिता यार्दे, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रमेश मईड़ा, वित्त आयोग के अध्यक्ष हिम्मत कोठारी, कृषक आयोग के अध्यक्ष ईश्वरलाल पाटीदार सहित जनप्रतिनिधिगण, जिला पुलिस अधीक्षक अमितसिंह उपस्थित थे। स्वतंत्रता दिवस समारोह में सशस्त्र बल एवं एन.सी.सी.तथा स्काऊट एण्ड गाईड दलों ने शानदार मार्च पास्ट प्रस्तुत किया। परेड का नेतृत्व रक्षित निरीक्षक खिलावनसिंह कंवर ने किया। उनके साथ सुबेदार रविशंकर वर्मा सेकेण्ड कमांडर थे। परेड में 12 दलों ने हिस्सा लिया। मुख्य अतिथि श्रीमती सुन्द्रियाल ने परेड कमाण्डर्स का परिचय प्राप्त किया। उन्होने रंगारंग गुब्बारे छोड़कर देश की सांस्कृतिक परम्परा को अभिव्यक्त किया। समारोह में नगर की विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के छात्र-छात्राओं ने रंगारंग एवं आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। समता शिक्षा निकेतन, गुरूतेग बहादुर एकेडमी, गुजराती समाज स्कूल, नोबल इंटरनेशनल स्कूल, मार्निग स्टार स्कूल तथा रतलाम पब्लिक स्कूल द्वारा सांस्कृति प्रस्तुतियॉ दी गई। विद्यार्थियों ने देशप्रेम की भावना से ओतप्रोत सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में प्रथम पुरूस्कार रतलाम पब्लिक स्कूल, द्वितीय पुरूस्कार मार्निग स्टार स्कूल एवं तृतीय पुरूस्कार नोबल इंटरनेशन स्कूल को प्रदान किया गया। समारोह के दौरान की गई परेड के लिये श्रेष्ठता पुरूस्कार प्रदान किया गया। परेड का प्रथम पुरूस्कार 24वीं बटालियन एस.एफ.कम्पनी, द्वितीय पुरूस्कार एनसीसी सिनियर डिविजन गर्ल्स कला एवं विज्ञान महाविद्यालय, तृतीय पुरूस्कार डाग स्क्वायड को प्रदान किया गया। पुरूस्कार परेड कमांडर्स द्वारा प्राप्त किये गये।