महाराष्ट्र-गुजरात में बीजेपी को पंचायत और स्थानीय चुनावों में बड़ी कामयाबी

शेयर करें:

पिछले करीब एक साल में हुए कई चुनावों में भाजपा को लगातार मिली सफलता कई बातों की तरफ की इशारा करती है। विशेषकर स्थानीय निकाय चुनावों में। जिसमें ग्राम पंचायतों में मिली सफलता भाजपा की नई इलाकों तक पहुंचती बढ़त है तो नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसलों के बाद जनता की स्वीकार्यता भी दिखाती है। ताज़ा उदाहरण है महाराष्ट्र और गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव के परिणामों में भाजपा की जबरदस्त चुनावी जीत।

बीजेपी के लिए मंगलवार दोहरी खुशी का दिन रहा। पार्टी ने गुजरात व महाराष्ट्र के पंचायत और स्थानीय निकाय के चुनावों में जोरदार जीत हासिल करके एक बार फिर से जनता का भरोसा जीतने का दावा किया है। महाराष्ट्र के पंचायत चुनावों में बीजेपी ने दमदार जीत हासिल की है। राज्य में पहले चरण के मतदान में बीजेपी ने करीब 50 फीसदी सीटों पर जीत हासिल की है।

7 अक्टूबर को हुए 3,884 ग्राम पंचायत चुनावों में से 2,974 पंचायतों के नतीजे घोषित हुए हैं जिसमें बीजेपी को 1,457 सीटों पर जीत हासिल हुई है। 301 सीटों के साथ कांग्रेस दूसरे और 222 सीटों के साथ शिवसेना तीसरे नंबर की पार्टी बनी है। शरद पवार की पार्टी एनसीपी के खाते में सिर्फ 194 सीटें ही गई हैं।

बीजेपी की जीत पर खुशी जताते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य सरकार के विकास के एजेंडे में विश्वास दिखाया है। महाराष्ट्र पंचायत चुनाव में मिली इस बड़ी जीत पर पीएम नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र की जनता का आभार व्यक्त किया है।

पीएम ने ट्वीट किया- महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में भाजपा को शानदार जीत मिली है। इससे पता लगता है कि भाजपा के विकास के एजेंडे को किसानों, युवा और गरीबों का व्यापक समर्थन हासिल है। पूरे राज्य में ग्राम पंचायत चुनाव में भाजपा की भारी जीत के लिए मैं महाराष्ट्र की जनता को धन्यवाद देता हूं।

बीजेपी के लिए विधानसभा चुनाव से पहले गुजरात से भी अच्छी खबर आई है। वहां पर भी बीजेपी ने स्थानीय निकाय उपचुनाव में 8 में से 6 सीटों पर जीत हासिल की है। इसके अलावा भी एक तालुका सीट पर जीत हासिल की है। इससे पहले इन आठ सीटों में से बीजेपी का दो ही पर कब्जा था। वहीं कांग्रेस की सीटें घटकर आधी रह गई हैं। बीजेपी का कहना है कि गुजरात में कांग्रेस की हालत बेहद खराब है।

बीजेपी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी हमला बोला। राहुल गांधी के ट्वीट पर जावडेकर ने कहा कि जब जमीन पर ताकत नहीं होती है तो ट्वीट का सहारा लिया जाता है। कुल मिलाकर बीजेपी की इस जीत से पार्टी के कार्यकर्ता जश्न में हैं और खासकर गुजरात में विधानसभा चुनाव से पहले इसे पार्टी के लिए उत्साह बढ़ाने वाला बताया जा रहा है।