Skip to content

बैंक ऋण वितरण नहीं कर पाते, तो प्रकरण कारण सहित लौटाये

इस ख़बर को शेयर करें:

झाबुआ @ कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आज बैंकर्स एवं विभागीय अधिकारियों की संयुक्त परामर्श दात्री समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता सीईओ जिला पंचायत जमुना भिडे ने की। बैठक में एडीएम एसपीएस चौहान, एलडीएम अरविंद कुमार सहित बैंक प्रतिनिधि एवं जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में निर्देश दिये गये कि अधिकारी बैंको में ऋण प्रकरण लगाये एवं प्रकरणो के वितरण के लिए बैंकर्स से मिलकर प्रकरण वार वितरण की स्थिति पर चर्चा कर वितरण करवाना सुनिश्चित करे। बैंकर्स यदि ऋण प्रकरण में वितरण नहीं कर पाते है, तो प्रकरण स्पष्ट कारण सहित संबंधित विभागो को वापस करे।

बैठक में जिले में संचालित शासकीय योजनाओं में ऋण वितरण, वार्षिक साख योजना वर्ष 2017-18 की प्रगति, वित्तीय समावेशन स्वयं सहायता समूह को ऋण वितरण, आर आर सी दर्ज प्रकरणों में वसूली, जीवन ज्योति बीमा योजना, सुरक्षा बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, पंचायत में बी.सी/बैंक सखी की नियुक्ति इत्यादि की समीक्षा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिये गये।

बैठक में सीईओ जिला पंचायत भिडे ने कहा कि रोजगार गारंटी योजना के हितग्राहियों के 1 लाख 87 हजार बैंक खाता धारको के बैंक खाते आधार से लिंक करना है। इसके लिए आप खाता धारकों से संपर्क करके आधार सीडिंग करवाना सुनिश्चित करे। जिस बी.सी.को जो ग्राम पंचायत आवंटित की गई है, उसी ग्राम पंचायत में निर्धारित दिन व समय पर बी.सी.की उपस्थिति सुनिश्चित करे। बी.सी. एवं बैंक सखी द्वारा ग्रामीण स्तर पर पेंशन एवं अन्य योजनाओं संबंधी लेन देन ग्राम पंचायत स्तर पर ही सुनिश्चित करे।

बैठक में निर्देश दिये गये कि ग्राहको को जागरूक करे कि अपने एटीएम के नम्बर, पिन नम्बर की जानकारी किसी को नहीं दे। अधिक पैसे मिलने के लालच में किसी को पैसे नहीं दे। हर मंगलवार को 11 बजे से 1 बजे तक ग्राम पंचायत में बी.सी.की उपस्थिति सुनिश्चित करे। बी.सी. जो भी ट्रांजिक्सन करे उसकी रिसिप्ट ग्राहक को जरूर दे। इसके लिए बी.सी. ग्राम पंचायत में बैठे और प्रिंट करने के लिए ग्राम पंचायत का प्रिंटर उपयोग कर सकते है।