पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलेंगे गृह मंत्री

शेयर करें:

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह बांग्लादेश की सीमाओं से लगते पूर्वोत्तर के राज्यों के मुख्यमंत्रियों और गृह मंत्रियों के साथ कोलकाता में बैठक करेंगे, रोहिंग्या शरणार्थियों के मुद्दा पर चर्चा होने की उम्मीद

बांग्लादेश से लगी देश की सीमा पर सुरक्षा स्थिति मज़बूत करने और सीमावर्ती इलाकों में तेज़ी से विकास कार्यों को आगे बढ़ाने के मकसद से गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज अहम बैठक बुलाई है। राजनाथ सिंह आज कोलकाता में बांग्लादेश की सीमा से लगे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की अध्यक्षता करेंगे।

बैठक में खासतौर से रोहिंग्या और बांग्लादेशी विस्थापितों के भारत में बड़ी संख्या में आने के विषय पर चर्चा की जाएगी और इसे रोकने के तरीके पर चर्चा भी की जाएगी। हालांकि बैठक के लिए रवाना होने से पहले गृह मंत्री ने कहा कि सरकार सभी पड़ोसी देशों से लगी देश की सीमाओं को सुरक्षित बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

इस अहम बैठक में हिस्सा लेने के लिए पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित किया गया है। बांग्लादेश के साथ भारत की करीब इकतालीस सौ किलोमीटर लंबी सीमा लगी है। यह गृह मंत्री द्वारा बुलाई गयी उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों की चौथी बैठक होगी जो अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से लगे हैं।

इससे पहले पाकिस्तान, चीन और म्यामां के साथ सीमा साझा करने वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों की तीन अलग अलग बैठकें हुई थीं। कोलकाता में होने वाली बैठक में सीमापार जाली भारतीय नोटों, नारकोटिक्स की तस्करी और अन्य अवैध गतिविधियों को रोकने की योजना बनाने पर भी बातचीत हो सकती है।