मक्का में हज की रुसुमात जारी

शेयर करें:

सउदी अरब के मक्का में इस वक्त लोग हज की रुसुमात अदा कर रहे हैं। आज तमाम हज यात्री अरफात के मैदान में जमा हो रहे हैं जहां से सूरज डूबने के बाद वो मुजदलफा रवाना होंगे।

कल शैतान को कंकरियां मारने की रस्म अदा करने के बाद हज यात्री कुर्बानी करेंगे और फिर अपना सर मुड़वाकर अहराम खोल देंगे। इस बारत दूनियाभर से लगभग 20 लाख मुस्लमान हज करने के लिए मक्का पहुंचे हैं। भारत से 1 लाख 70 हजार हज यात्री सउदी अरब पहुंचे हैं। मक्का में भारतीय मिशन अगुवाई केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री एम.जे अकबर कर रहे हैं।

हज इस्लाम धर्म के पांच स्तंभों में से एक है। हर मुसलमान को अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार हज यात्रा करनी होती है, यदि वह ऐसा करने में समर्थ हो। ईरान के लोग भी इस साल हज में शामिल हो रहे हैं जो 2015 में मक्का में हुई भगदड़ के कारण पिछले साल यहां नहीं आए थे। इस भगदड़ में तकरीबन 2,300 लोगों की मौत हो गई थी।