लॉक डाउन का पालन कराने के लिए ग्वालियर जिला प्रशासन ने चुना ये रास्ता

शेयर करें:

ग्वालियर। लॉक डाउन का पालन कराना जिला प्रशासन के लिए मुश्किल साबित हो रहा है। बार बार समझाइश और चेतावनी देने के बाद भी लोग प्रशासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं का दुरूपयोग कर रहे हैं।

इसलिए अब प्रशासन जल्दी ही ऑन लाइन कंपनियों की मदद से होम डिलेवरी कर किराना पहुंचाएगा। प्रशासन ने ऑन लाइन कंपनियों के प्रमुखों सर इस विषय में सहमति ले ली है। ये व्यवस्था कल मंगलवार से शुरू की जायेगी।

14 अप्रैल तक घोषित लॉक डाउन में लोगों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता के सरकारी आदेश का पालन कराने की दिशा में जिला प्रशासन ने अभी आवश्यक वस्तुओं को सुबह 6 बजे से 9 बजे तक खोलने के निर्देश दिया हैं।

लेकिन देखने में आ रहा है कि इस समयावधि में दुकानों पर भीड़ पहुँच रही है और लोग सोशल डिस्टेंसिंग की पीएम की अपील को ठेंगा दिखा रहे हैं। हालांकि दुकानदारों ने अपनी दुकान के बाहर गोले बना दिए हैं लेकिन पहले सामान लेने की होड़ में लोग इसका ध्यान नहीं रख रहे।

जिला प्रशासन पर पहुंची शिकायत के बाद कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह और पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने ऑन लाइन कंपनियों के माध्यम से होम डिलेवरी का एक्शन प्लान तैयार किया है जिससे भीड़ शहर में ना निकले और लोग घरों में रहकर सोशल। डिस्टेंसिंग का पालन करें।

जोमेटो, स्वीगी, अमेजन और फ्लिपकार्ट करेंगी होम डिलेवरी

कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने ऑन लाइन सामान बेचने वाली कंपनियों के प्रमुखों को बुलाकर अपनी योजना बताई जिसके बाद इबाद जोमेटो, स्वीगी, अमेजन और फ्लिपकार्ट के अधिकारियों ने कलेक्टर एसपी के साथ बैठक कर इसके लिए सहमति दे दी। इस बैठक में प्रशासन ने 40 किराना दुकानदारों को भी बुलाया था जिन्हें इसमें शामिल किया गया है।

प्रशासन के मुताबिक सबकुछ ठीक रहता है तो कल मंगलवार से जोमेटो और स्वीगी से इसकी शुरुआत होगी और उसके कुछ घंटों बाद अमेजन और फ्लिपकार्ट भी सप्लाई शुरू कर देगा। प्रशासन ने इस बात का भी ध्यान रखा है कि जिनके पास मोबाइल नहीं है या एप नहीं हैं उनके लिए मोबाइल नंबर जारी किये जायेंगे।

सामान की लिमिट भी की गई है निर्धारित

जिला प्रशासन ने ऑन लाइन किराना सप्लाई के लिए सामान की लिमिट भी तय की है। इसे तहत कोई भी व्यक्ति जमाखोरी नहीं कर पाए इसका ध्यान रखा गया है । जिला प्रशासन ने कंपनियों को निर्देश दिया हैं कि एक बुकिंग में एक बार में 5 किलो दाल, 5 किलो चावल और 10 किलो आटे से अधिक खरीदारी नहीं की जा सकेगी।

इसके अलावा प्रशासन ने ऑन लाइन कंपनियों को भरोसा दिलाया है कि यदि आपके पास स्ताफ की कमी होगी तो पुकीस अपने वॉलिंटियर्स भेजगी। यदि ये व्यवस्था काम कर जाती और जिला प्रशासन अपने नये प्लान में सक्सेस हो जाता है तो हो सकता है कि सुबह 6 से 12 बजे तक दुकानों को दी जा रही छूट बंद हो जाए इसका समय कम कर दिया जाए।