ग्राम स्वराज अभियान पूरी तरह सफल: अमित शाह

शेयर करें:

बीजेपी ने ग्राम स्वराज अभियान को पूरी तौर पर सफल बताया है। दिल्ली में भाजपा अमित शाह ने कहा कि इस अभियान से सीधा लाभ गाँवो को पहुंचा है। 14 अप्रैल से पांच मई तक चलाए गए ग्राम स्वराज अभियान के दौरान सरकार ने 16 हजार 850 गांवों में बिजली और अन्य सुविधाएं पहुंचाई हैं। अगले चरण में 15 अगस्त 2018 तक 65 हज़ार गाँवों को जोड़े जाने की योजना है।

भारतीय जनता पार्टी ने 14 अप्रैल से 5 मई तक चले ग्राम स्वराज अभियान में देश के गाँवों तक अनेक योजनाओं के शत प्रतिशत क्रियान्वयन का दावा किया है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि इस दौरान 16 हज़ार 8 सौ पचास गाँवों में गैस और बिजली समेत सरकार की सात महत्वाकाँक्षी योजनाओं से जनता सीधे सीधे लाभान्वित हुई। ‘ग्राम स्वराज अभियान’ एक अनूठा प्रयोग है। आज़ादी के बाद पहली बार किसी भी सरकार ने 16,850 गावों को समस्याओं से मुक्त करने का काम पहली बार अपने हाथ में लिया है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने उम्मीद जताई कि ये कारवाँ यहीं रुकेगा नहीं,बल्कि आगे बढ़ेगा। देश के 115 जि़लों के 65 हज़ार गाँवों तक 15 अगस्त 2018 तक बिजली और गैस पहुंचाने का लक्ष्य है। अमित शाह ने कहा कि अब गरीब के सरकार के पास आने की ज़रुरत नहीं है वल्कि सरकार गरीबों तक समस्या के निदान तक पहुंच रही है।
ग्राम स्वराज अभियान में जिन योजनाओं का सीधा लाभ जनता को मिला,आईये डालते हैं उस पर नज़र।

उज्ज्वला योजना के तहत 10 लाख 93 हज़ार नये गैस कनेक्सन बांटे गये। सौभाग्य योजना के अंतगर्त 5 लाख 2 हजा़र 434 परिवारों तक बिजली पहुंचाई गई। वहीं उजाला योजना में 16 हज़ार 682 गांवों में 25 लाख से भी ज्यादा एलईडी बल्ब वितरित किये गये। जबकि प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 20 लाख 53 हज़ार 599 लोगों के बैंक खाते खोले गये। वहीं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना का लाभ 16 लाख से भी ज्यादा लोगों को मिला।

इस दौरान 26 लाख 10 हज़ार 506 लोगों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का सीधा लाभ मिला। मिशन इंद्रधनुष योजना का लाभ शिशुओं और गर्भवती महिलाओं तक पहुंचा और तकरीबन 1 लाख 64 हज़ार 398 शिशुओं और 42 हज़ार 762 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया। जिसमें सरकार के अधिकारियों ने भी अहम भूमिका निभाई।