युवाओं का कौशल विकास सरकार की प्राथमिकता – प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह

शेयर करें:

जबलपुर @ सांसद एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा है कि सरकार द्वारा युवाओं के कौशल विकास के लिए सार्थक प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने लोगों खासकर युवाओं का आव्हान किया कि वे स्वरोजगार योजनाओं का लाभ लेकर उद्योग व्यवसाय शुरू करें और दूसरों को भी रोजगार देने का जरिया बनें। सांसद ने यह बात आज यहां मॉडल हाई स्कूल में आयोजित आजीविका एवं खण्डस्तरीय स्वरोजगार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।

सांसद सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को यह महसूस हुआ कि देश के 6 लाख ऐसे परिवार हैं जो पिछड़े हुए हैं इनको किसी न किसी रूप में रोजगार से भी जोड़ना होगा ताकि ये आर्थिक रूप से सक्षम हो सकें। इस दिशा में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से प्रयास शुरू किए गए हैं। देश में 130 करोड़ की आबादी है और सारे लोगों को शासकीय नौकरी नहीं मिल सकती। लेकिन हमारी माताएं-बहने गांवों में अपने घरों में बैठकर स्व-सहायता समूह के माध्यम से न सिर्फ आर्थिक रूप से सक्षम हो सकती हैं बल्कि अपने और अपने परिवार के भरण-पोषण के लिये रास्ता बना सकती हैं।

सांसद सिंह ने कहा कि स्वरोजगार एवं आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिये सर्वाधिक आवश्यकता कौशल विकास की होती है। आज भी देश में युवा पढ़ने में आगे हैं डिग्री-डिप्लोमा ले लेते हैं किन्तु कौशल विकास की ट्रेनिंग न होने की वजह से कई बार उन नौकरियों और कार्यों से वंचित रह जाते हैं जिनसे उन्हें रोजगार मिल सकता था। सांसद सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कौशल विकास पर भी ध्यान दिया और खुशी की बात है कि इस दिशा में केन्द्र सरकार कार्य कर रही है।

पूरे देश में युवाओं के पंजीयन भी शुरू हुए अब तक 22 लाख से अधिक युवाओं के पंजीयन हो चुके हैं और इनमें से प्रमाणित युवा जिनके पास कौशल विकास के प्रमाण पत्र थे ऐसे 4 लाख से अधिक युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जा सका है। सम्मेलन में विभागों के अधिकारियों द्वारा उपस्थित स्व-सहायता समूहों, उद्यमियों, स्वरोजगारियों एवं हितग्राहियों को विस्तृत रूप से मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना एवं मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजनाओं की जानकारी दी गई।

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका मिशन एवं स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत स्वरोजगारियों के उत्पादों का प्रदर्शन के साथ-साथ सभी स्वरोजगार योजनाओं का स्टॉल लगाया गया। इस सम्मेलन में रोजगार एवं स्वरोजगार के इच्छुक युवक-युवतियों का पंजीयन भी किया गया। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र द्वारा विभिन्न स्वरोजगार योजनाओं के इच्छुक 452 युवक-युवतियों को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना अन्तर्गत एम.पी.ऑनलाइन से आवेदन करने हेतु जानकारी दी गई।

आजीविका मिशन द्वारा महिला स्वसहायता समूहों को रिवाÏल्वग फण्ड का भी वितरण किया गया। आजीविका मिशन से लाभान्वित स्वसहायता समूहों एवं स्वरोजगार योजनाओं के सफल उद्यमियों द्वारा भी इस मेले में अपने अनुभवों को बताया गया। सम्मेलन में जिला ग्रामीण भाजपा अध्यक्ष शिव पटेल, जनपद अध्यक्ष संजय पटेल, एम.आई.सी. सदस्य श्रीराम शुक्ला, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत हर्षिका सिंह, महाप्रबंधक उद्योग देवव्रत मिश्रा, जनपद पंचायत जबलपुर के सीईओ मनोज सिंह एवं लीड बैंक अधिकारी, नाबार्ड के सहायक महाप्रबंधक तथा संबंधित विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित रहे।