प्रेमिका ने प्रेमी के साथ मिलकर, घटना को दिया अंजाम

शेयर करें:

जबलपुर @ 09 सितंबर को रामस्वरूप चौधरी ग्राम गनियारी थाना कटंगी ने मझौली में सूचना दी थी कि ग्राम पिपरिया के जंगल में उसकी पत्नि चिन्तोबाई 45 वर्ष की लाश अस्त-व्यस्त अवस्था में झाड़ियों के अंदर पड़ी हुई है, जिसके गले में चोट के निशान हैं। किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा उसकी पत्नि की हत्या की गई है। जिस पर थाना मझौली में अपराध अज्ञात आरोपी के विरूद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

विवेचना के दौरान उपरोक्त घटना स्थल पर जाने वाले सभी मवेशी चराने वाले लोगों एवं मृतिका के परिजनों से और ग्राम पिपरिया एवं गा्रम गाड़ा के लोगों से पूछताछ की गई। ग्राम पिपरिया के संतू गड़ारी के यहां काम करने वाले सुखदेव पिता शम्भू गोटिया 35 साल ग्राम टेड़ी गुबरा बड़वारा निवासी कटनी के बारे में सूचना मिली कि वह घटना के दिन जंगल में भैंसे चराने के लिये गया था। इसके अलावा छन्नी बाई पति पुन्नू सिंह गौंड़ 35 साल भी घटना के दिन, घटना स्थल के आसपास बकरियां चराने के लिये गयी थी। गांव में पता करने पर मालूम हुआ कि छन्नी बाई एवं सुखदेव के बीच में अच्छी दोस्ती है।
सुखदेव गोटिया, एवं छन्नी बाई गौड को अभिरक्षा में लेते हुये, पूछताछ की गई तो मालूम पड़ा कि आरोपी सुखदेव कोल के विगत 01 वर्ष से आरोपी छन्नी बाई गौड़ के साथ अवैध संबंध हैं।

पिछले कुछ दिनों से आरोपी सुखदेव कोल के मृतिका चिन्तोबाई के साथ भी संबंध थे। घटना के दिन आरोपी सुखदेव कोल को मृतिका चिन्तोबाई के साथ आरोपी छन्नीबाई ने आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। जिससे नाराज होकर छन्नीबाई ने छोटे पेंचकस से चिन्तो बाई के गले में हमला कर हत्या कर दी। आरोपी सुखदेव कोल ने पूछताछ में मृतिका के साथ घटनावाले दिन शारिरिक संबंध बनाये जाने की पुष्टि की है। अतः घटना में शामिल छन्नी बाई गौंड़ एवं सुखदेव कोल को गिरफ्तार किया गया है। घटना में इस्तेमाल पेंचकस आरोपी छन्नीबाई की निशांदेही पर जप्त किया गया ।

इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में आरक्षक पंकज गुप्ता, मआर ज्योति काछी, आरक्षक आशीष कुमार थाना मझौली एवं आरक्षक नीरज राजूपत एवं मनोज असैया थाना कटंगी की भूमिका सराहनीय रही है। पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने टीम को 48 घण्टे के भीतर अंधे कत्ल का पटाक्षेप करने पर पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।