पॉलीटेक्निक परिसर में छात्राओं एवं स्टाफ का सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण किया गया

शेयर करें:

मण्डला @ शासकीय पॉलीटेक्निक महाविद्यालय, मण्डला में मध्यप्रदेश शासन की अति महात्वाकांक्षी योजना एकलव्य के तहत् मात्र मण्डला में अनुसूचित जनजाति की छात्राओं के लिए निःशुल्क आवासीय पाठ्यक्रम के अंतर्गत अध्ययरत् छात्राओं के लिए महिला सशक्तिकरण विभाग एवं संस्था के संयुक्त तत्वाधान में महिलाओं एवं उनके स्वास्थ्य से संबंधित जागरूकता को लेकर विभिन्न विषयों पर श्रृंखलाबद्ध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

भारत एवं राज्य सरकार के एड्स नियंत्रण के अर्तगत जिला एड्स समिति के निर्देशानुसार गठित रेड रिबिन क्लब के तहत् 20 मार्च से 23 मार्च 2018 तक कार्यक्रमों को आयोजित किया गया। 20 मार्च को एच.आई.व्ही.,एड्स के बचाव, बेटी बचाओं-बेटी पढाओं, पर्यावरण संतुलन एवं भोजन एवं स्वास्थ्य विषय पर छात्राओं के लिए स्लोगन एवं चार्ट निर्माण प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस प्रतियोगिता में अनेक छात्राओं का ग्रुप उत्साहपूर्वक भाग लेकर संबंधित विषयों पर प्रजेंटेशन देकर अपनी प्रतिभा एवं भावनाओं का परिचय दिया।

21 मार्च को एड्स विषय पर वस्तुनिष्ठ आधारित सामान्य ज्ञान की प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें 100 से अधिक छात्राओं ने हिस्सा लिया। जिला एड्स कार्यक्रम नोडल अधिकारी डॉ. बी.एल.झारिया (व्याख्याता) रानी दुर्गावती स्नातकोत्तर महाविद्यालय, मण्डला द्वारा मुख्य वक्ता के रूप में एड्स एवं एच.आई.व्ही. विषय पर विस्तृत व्याख्यान दिया गया।

व्याख्यान उपरान्त छात्राओं द्वारा एड्स के प्रति जागरूकता लाने के लिए मानव श्रृंखला तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निर्धारित चिन्ह को बनाया गया। प्राचार्य आर.के.परोहा ने छात्राओं के संबोधन में कहा कि एच.आई.व्ही. संक्रमण से बचने के लिए हमें हर समय जागरूक रहना चाहिए। व्याख्यान उपरान्त छात्राओं को एड्स विषय पर संदेश देने के लिए कुर्सी दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया।

22 मार्च को जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी प्रशान्त दीप ठाकुर एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रयास से डॉ. दिव्येश पटेल एवं उनकी टीम द्वारा पॉलीटेक्निक परिसर में लगभग 250 अध्ययरत् छात्राओं एवं स्टाफ का सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इस परीक्षण के दौरान छात्राओं एवं स्टाफ का रक्त में हीमोग्लोबिन जांच ब्लड-प्रेशर, एनीमिया, सर्दी-जुकाम-बुखार आदि सामान्य बीमारियों का परीक्षण कर सभी छात्राओं एवं स्टाफ को निःशुल्क दवाईयां वितरित की गई। जिला चिकित्सालय मण्डला एवं घुघरी से आये ए. एच. काउन्सलर क्रांती सिंगौर एवं आरती राय द्वारा छात्राओं से उनकी होने वाली परेशानियों पर विस्तृत चर्चा कर बीमारियों से बचने के उपाय बताये।

23 मार्च को अंत में संस्था प्रमुख की अध्यक्षता एवं रेड-रिबिन कार्यक्रम अधिकारी एम.एस.मरकाम के आतिथ्य में विभिन्न आयोजित कार्यक्रमों के विजेता-उप विजेता छात्राओं को आर्कषक पुरूस्कार एवं प्रमाण-पत्र प्रदाय किये गये। कार्यक्रमों के दौरान प्राचार्य द्वारा समय-समय पर छात्राओं को मार्ग दर्शन दिया है। सम्पूर्ण कार्यक्रम को संचालित करने में ओ.पी.साहू एवं पूजा सोनी की भूमिका महत्वपूर्ण रही। कार्यक्रम को सफल बनाने में श्री व्ही.के.ताकसाण्डे, डॉ. कल्पना चंसोरिया, श्रीकान्त व्यास, अरविन्द गुप्ता, देवेन्द्र तारन, दिनेश सिंह, अब्दुल शाहिद, जे.पी.यादव. सुशील चौधरी. कलाबेर पन्ना. एस.बी.बघेल, नरेन्द्र जगताप, रूचि चाउदा, महिमा मिश्रा, आकृति सहित समस्त स्टाफ की भूमिका अत्यन्त सराहनीय रही।