सौभाग्य योजना लक्ष्यों को पूरा करें, गंभीर रहे विद्युत वितरण कंपनी – कलेक्टर

शेयर करें:

राजगढ़ @ ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युतिकरण की समस्या नहीं हो यह विशेष ध्यान रखा जाये। बिजली के रख-रखाव संबंधित कार्य समय-सीमा में वर्षा ऋतु के पूर्व व्यवस्थित ढंग से किया जाये। जिससे सभी ग्रामीण अंचलों में ग्रीष्म ऋतु में बिजली को लेकर परेशानी का सामना नहीं करना पड़े यह निर्देश सौभाग्य योजना की गत दिवस समीक्षा बैठक में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिए।

उन्होंने कहा कि सौभाग्य योजना अंतर्गत आने वाले ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के खंबे, इलेक्ट्रिक तार एवं मटेरियल क्रय की जिम्मेदारी संबंधित ठेकेदार की है। संबंधित ठेकेदार माह जून के पहले अपने सभी मंजरे टोले के कार्य को तीव्र गति से निपटायें एवं हर घर विद्युत मीटर एवं सड़को पर रोशनी हेतु खंबों को लगाकर केबलिंग का कार्य करें। शासन की महत्वपूर्ण योजनान्तर्गत लक्ष्यों को दृष्टिगत रखते हुए मानवीय भावना एवं संवेदनशीलता से कार्य पूर्ण करें। इस हेतु अधिक से अधिक संख्या में मजदूरों को लगाएं एवं इसे गंभीरता से लें।

बैठक में उन्होंने कहा कि जिले में हर जगह सब स्टेशन बनाकर कार्ययोजना बनाये तथा एक-एक इंजीनियर एवं टीम बनाकर एक साथ मिलकर कार्य को प्राथमिकता से करें। उन्होंने निर्देशित किया कि जिले के ऐसे स्थान चिन्हित करे जो विद्युतिकरण के मामले में पिछड़े है। उनकी मेपिंग कर उनका तत्काल निराकरण करें। सौभाग्य योजना अंतर्गत हर घर बिजली की व्यवस्था को साकार करें एवं विद्युत के मामले में जिले को पिछड़ेपन से मुक्त करायें।                                                                                                                                                               इस अवसर पर बिजली विभाग के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी सहित राजगढ़ जिले के ठेकेदार वोल्टास कंपनी के इंजीनियर भी उपस्थित थे।