मथुरा से बीना तक तैयार की जा रही चौथी रेल लाइन, ग्वालियर को मिलेंगे दो नए स्टेशन

शेयर करें:

चौथी रेल लाइन के लिए बन सकता है 42 किमी लंबा बायपास ट्रैक, बायपास होने पर ग्वालियर को मिलेंगे दो नए स्टेशन, मालनपुर बनेगा नया जंक्शन

ग्वालियर: मथुरा से बीना तक तैयार की जा रही चौथी रेल लाइन के लिए ग्वालियर में 42 किलाेमीटर लंबा पहला बायपास ट्रैक बनाने की तैयारी शुरू हो गई है। रेलवे ने इस काम के लिए कोलकाता की पॉयोनियर कंसल्टेंसी कंपनी को सर्वे की जिम्मेदारी सौंप दी है।

रेलवे सूत्रों के मुताबिक बायपास रेल लाइन ग्वालियर स्टेशन से 8 किलोमीटर दूर स्थित नेशनल हाईवे (रमौआ गांव) के पास से होकर निकलेगी। इसकी शुरूआत सांक-बानमोर स्टेशन के पास से होगी और यह ट्रैक सिथौली-संदलपुर रेल ट्रैक से मिलेगा। सर्वे फाइनल होने के बाद उत्तर मध्य रेलवे इसे रेलवे बोर्ड को स्वीकृति के लिए भेजेगा।

इस बायपास ट्रैक से गुड्स ट्रेनों के अलावा ग्वालियर स्टेशन पर नहीं रुकने वाली यात्री ट्रेनों को भी निकाला जाएगा। गौरतलब है कि बिरला नगर, ग्वालियर और सिथौली रेलवे स्टेशन और यार्ड में चौथी लाइन बिछाने के लिए जगह नहीं है। इस कारण रेलवे आगरा की तरह बायपास ट्रैक बनाने की दिशा में काम कर रहा है। अभी आगरा से झांसी की दूरी 215 किमी है। इसे तय करने में ट्रेनें 4 से 4:30 घंटे लेती हैं। बायपास ट्रैक बनने से 28-30 किमी दूरी बढ़ेगी। यहां से गुजरने वाली ट्रेनों को करीब आधा घंटा ज्यादा समय लगेगा

रेलवे के पास ग्वालियर स्टेशन के पास से चौथी लाइन निकालने के लिए जगह नहीं है। इसे ध्यान में रखकर रेलवे बायपास रेल मार्ग निकालने के लिए सर्वे करा रही है। यह 42 किलोमीटर लंबा होगा, जो सिथौली-संदलपुर के पास पुराने ट्रैक से जुड़ेगा।
अमित मालवीय, जनसंपर्क अधिकारी रेल मंडल झांसी

ग्वालियर को मिलेंगे दो नए स्टेशन…
बाय पास जहाँ ग्वालियर जंक्शन पर ट्रेनों का लोड कम होगा वहीँ मुरार के निवासियों के नया स्टेशन मिलेगा, इसके अलावा सिरोल गांव के पास भी एक स्टेशन बनाया जायेगा।

कहां से कहां तक बनेगा बायपास…
सांक स्टेशन से संदलपुर तक बनेगा बायपास, यह बायपास ग्वालियर-भिंड लाइन के मालनपुर स्टेशन से निकलते हुए सिथौली स्टेशन के आगे नेशनल हाइवे के ऊपर से गुजरेगा। भविष्य में झाँसी से इटावा जाने के लिए भी इस रूट का प्रयोग किया जा सकेगा|

आगरा-ग्वालियर रेल मार्ग की अप मेन लाइन के बगल से चौथी पटरी डाली जाएगी। सांक स्टेशन निकलने के बाद ट्रैक को घुमाव दिया जाएगा। रायरू-बिरला नगर ट्रैक के बीच आगरा-झांसी हाईवे के ब्रिज के पास से फिर घुमाव दिया जाएगा। इसके बाद चौथी लाइन बरेठा, बड़गांव, रमौआ गांव, मालवा कॉलेज, सिथौली रेलवे स्टेशन, अडूपुरा बिजली घर के पास से संदलपुर की पहाडिय़ों के बीच गुजरे पुराने रेल ट्रैक के नजदीक पहुंचेगी

आगरा में भी हो रहा है ऐसा प्रयोग….
रेलवे को बिलौचपुरा से भांडई तक रेल खंड पर चौथी लाइन के लिए जगह नहीं मिली। वहां पर आगरा मंडल ने कीथम स्टेशन से चौथी लाइन को बायपास कर दिया है। यह आगरा के बाहर से निकलकर भांडई स्टेशन पर आकर मिलेगी। मुथरा स्टेशन पर चौथी रेल लाइन के लिए 4.50 किलोमीटर का फ्लाईओवर बनाना तय हो चुका है।