अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने दिया विवादित बयान

शेयर करें:

अपने बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है, जिसे लेकर सियासी पारा तो चढ़ ही सकता है, उनपर बड़ी कार्रवाई भी हो सकती है. इसबार सज्जन सिंह वर्मा ने लड़कियों की शादी की उम्र को लेकर ऐसी बात कही है कि उनके खिलाफ अब राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने प्रोटेम स्पीकर को पत्र लिखकर उनके खिलाफ नोटिस जारी करने की बात कही है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल किए जाने की बात पर वर्मा ने कहा है कि जब लड़कियां 15 साल में प्रजनन लायक हो जाती हैं तो शादी की उम्र 21 साल करने की क्या जरूरत है. जब लड़कियों की शादी की उम्र पहले से 18 साल तय है तो इसमें बदलाव की क्या जरूरत है. वर्मा का यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसके बाद उनकी मुश्किलें अब बढ़ सकती हैं.

सज्जन सिंह वर्मा ने बुधवार को राजधानी भोपाल में मीडिया से चर्चा करते हुए यह विवादित बयान दिया है, जिसमें उन्होंने कहा कि डॉक्टरों के अनुसार लड़कियों में 15 साल की उम्र में बच्चे पैदा करने की क्षमता हो जाती है, इसलिए उनकी शादी की उम्र में बदलाव करने की कोई जरूरत नहीं है.

बता दें कि इससे पहले सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक कार्यक्रम में लड़कियों की शादी की उम्र को लेकर बहस की जरूरत बताई थी. उन्होंने इसे 18 से बढ़ाकर 21 साल किए जाने की बात कही थी. चौहान ने कहा था कि कई बार मुझे लगता है कि समाज में बहस होनी चाहिए कि बेटियों की शादी की उम्र 18 रहनी चाहिए या इसे बढ़ाकर 21 साल कर देना चाहिये. मैं इसे बहस का विषय बनाना चाहता हूं. प्रदेश सोचे, देश सोचे ताकि इस पर कोई फैसला किया जा सके.