न्यू इण्डिया मंथन के विकास एजेण्डा पर अमल करे- कलेक्टर

शेयर करें:

भिण्ड@ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के न्यू इण्डिया मंथन के विकास एजेण्डा पर विभागीय अधिकारी व कर्मचारी कार्यवाही सुनिश्चित करें। इस दिशा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश स्तर पर दृष्टि (विजन) के अन्तर्गत विभिन्न प्रकार की कार्यवाहियां प्रारंभ की जा चुकी है। इस दिशा में विभागीय अधिकारी व कर्मचारी जिला स्तर पर अमल करते हुए अपनी गतिविधियों को आगे बढा़ने के प्रयास करें।कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने 15 अगस्त-स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर संयुक्त कलेक्ट्रेट भवन पर ध्वजारोहरण करने के बाद अधिकारी व कर्मचारियों से चर्चा के दौरान व्यक्त किए। इस अवसर पर एडीएम टीएन सिंह,अपर कलेक्टर डॉ.अनुज रोहतगी,एसडीएम संतोष तिवारी एवं विभिन्न विभागो के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने कहा कि विभागीय अधिकारी व कर्मचारी भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन देने में अपनी महति जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। साथ ही शासकीय क्रियाकलापों में बिना प्रलोभन के अपने कार्यो को समय सीमा में अंतिम रूप प्रदान करें। उन्होंने कहा कि इन कार्यवाहियों के अन्तर्गत जातिवाद को त्यागने की पहल की जावे। साथ ही पूरी मुस्तेदी के साथ अपनी दृष्टि (विजन) में लगाते हुए शासकीय कार्यो को समय सीमा में निपटावे। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार की जनहितेषी एवं कल्याणकारी योजनाओं को अंतिम छोर तक के व्यक्तियों तक पहुंचाने के प्रयास किए जावे। जिससे गरीब व्यक्ति आत्मनिर्भर बनने की दिशा में अग्रसर हो सके। कलेक्टर ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप राजस्व विभाग के माध्यम से आगामी तीन माह तक अविवादित, नामांतरण, सीमांकन, बटवारा के प्रकरणों के साथ-साथ न्यायालयीन प्रकरणों के निराकरण की पहल की जावे। इस अवधि तक निराकरण के लिए किसी भी प्रकार का प्रकरण लंबित नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी प्रकरण आगामी तीन माह की अवधि के बाद निराकरण के लिए पाया जाता है, तब संबंधित शिकायतकर्ता द्वारा अवगत कराए जाने पर उसे पुरूष्कार दिया जावेगा। साथ ही प्रकरण से संबंधित राजस्व अमले के विरूद्ध कार्यवाही की जावेगी।