किसानों को मिलेगी समर्थन मूल्य एवं बाजार मूल्य के अंतर की राशि- CM

शेयर करें:

अशोकनगर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा रविवार को चन्देरी में किसानों को 130 करोड़ रुपये की फसल बीमा राशि के प्रमाणपत्र वितरित किये गए। यह प्रमाणपत्र साढ़े तैतीस हजार किसानों को दिए गए। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल के बाजार मूल्य और समर्थन मूल्य के अंतर की राशि अब सीधे किसानों के खातों में जमा की जाएगी। उन्होंने यह घोषणा जिले के चंदेरी तहसील मुख्यालय पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की दावा राशि भुगतान के वृहद कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप में की। उन्होंने अशोकनगर और चंदेरी नगरपालिका को डेढ-डेढ. करोड़ रूपए की राशि पेयजल अधोसंरचना विकास के लिए देने की घोषणा की। साथ ही कहा कि अशोकनगर जिला चिकित्सालय का विस्तार कर उसे 200 बिस्तर और चंदेरी चिकित्सालय की क्षमता 30 बिस्तर से बढ़ाकर 100 बिस्तर की जाएगी।

अशोकनगर एवं चंदेरी को मिली सौगातें:
125.69 करोड़ 55 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं षिलान्यास किया
अशोकनगर जिला चिकित्सालय 200 बिस्तर और चंदेरी चिकित्सालय 100 बिस्तर में अपग्रेड करने की घोषणा
अशोकनगर जिला चिकित्सालय में टमा सेंटर में स्टॉफ की व्यवस्था
अशोकनगर में रेल्वे अंडरब्रिज के लिए प्रस्ताव
चंदेरी को पर्यटक स्थल का दर्जा, 3 करोड़ रूप्ए की राषि स्वीकृत
चंदेरी को पर्यटन सर्किट से जोड़ा जाएगा।
अशोकनगर और चंदेरी नगरपालिकाओं को अधोसंरचना विकास के लिए डेढ़ डेढ़ करोड़ रूप्ए की राशि की घोषणा
अशोकनगर शहर का र्रिंग रोड बनाये जाने पर विचार किया जाएगा।
चंदेरी में 30 करोड़ 69 लाख रूपये की राषि से निर्मित चंदेरी हैण्डलूम पार्क का हुआ लोकार्पण।

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में लगी बसें, यात्रि हुए परेशान
अशोकनगर,अलग-अलग रूटों पर चलने वाली बसें रविवार को चन्देरी में हुए भाजपा के कार्यक्रम में लगाई गई। जिसके चलते कई रूटों पर यात्री बसें कम चलीं। इस कारण अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। दिनभर यात्रियों को खासी परेशानी आई।

प्रतिदिन की तरह रविवार को भी सुबह छह बजे से ही यात्री बस स्टैंड पहुंचने लगे थे, लेकिन वहां पहुंचने पर उन्हें कई बसें नहीं चलने की जानकारी लगी तो उन्हें बस के इंतजार में घंटों बस स्टैंड पर बैठना पड़ा। किसी यात्री को एक-दो घंटे देरी से बस मिली तो कई रूटों के लिए यात्रियों को दोपहर बाद ही बस मिल सकी। बस स्टैंड दिनभर यात्रियों से खचाखच भरा रहा। गर्मी के कारण यात्रियों का बुरा हाल था। छोटे बच्चों के साथ महिलाएं और बुजुर्ग खासे परेशान हुए।