पिछले साल के गेहूँ उपार्जन पर किसानों को मिलेगे 200 रूपये प्रति क्विंटल – मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र

शेयर करें:

दतिया @ मध्यप्रदेश शासन के जल संसाधन, जनसम्पर्क एवं संसदीय कार्य विभाग मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने राहत की चाय एवं बिजली के विस्कुट कार्यक्रम के तहत ग्राम रावरी मे किसानों को 39 लाख 20 हजार रूपये की राहत राशि वितरित की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि मौके पर उपस्थित राजस्व अधिकारी गांव में कैम्प कर राहत राशि में शेष रह गए किसानों के कागज एकत्रित करेंगे और उन्हें शीघ्र राहत राशि दिलाएगें।

जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार गांव गरीब, किसान की भलाई के लिए निरंतर प्रत्यनशील है। भावांतर भुगतान योजना में किसानों को चना, मसूर, सरसों, प्याज आदि के लिए भावांतर में पंजीयन किया जा रहा है। इसकी तारीख 24 मार्च कर दी गई है सभी किसान पंजीयन जरूर कराएं इसी प्रकार गेहूँ का भी पंजीयन किया जा रहा है। उन्होने कहा कि पिछली साल जिन किसानों ने समर्थन मूल्य पर गेहूँ वेचा था उनकों 200 रूपये प्रति क्विंटल के हिसाब से अलग से राशि दी जाएगी।

इस वर्ष के किसानों को कुल दो हजार रूपये के हिसाब से गेहूँ उपार्जन पर दाम मिलेंगे। उन्होंने किसानों से कहा कि सरकार सूखा, ओलापाला, भावांतर, बीमा योजना आदि के द्वारा किसानों को लाभांवित किया जा रहा है। सभी किसान आगे बढकर लाभ जरूर लें। उन्होने किसानों की मांग पर विद्युत समस्या के समाधान की भी घोषणा की।

गांव के युवाओं ने विकास में भागीदारी का संकल्प लिया
कार्यक्रम के दौरान गांव के एक दर्जन से अधिक युवाओ ने जनसंपर्क मंत्री के साथ विकास में सहभागिता का संकल्प लिया। इनमें प्रमुख रूप से सर्वश्री मुकेश कुमार पटेल, विकास पटेल, कल्लू बसेडि़या, आकाश पटेल, ज्ञान सिंह पटेल, विक्रम पाल, मंशाराम पटेल, विशाल पटेल, अजय पटवा, संजू पटेल, पवन शर्मा, अरविंद अहिरवार, जीतू साहू आदि के नाम प्रमुख है। कार्यक्रम का संचालन सेवाराम शर्मा ने किया। इस दौरान सरपंच रावरी माधौसिंह बुंदेला तथा अन्य गणमान्यजन उपस्थित रहे।