10वीं और 12वीं की केवल इन विषयों की ही होगी परीक्षा, 14 अप्रैल के बाद जारी होगी डेट

शेयर करें:

भोपाल। मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन की 10वीं और 12वीं की कुछ विषयों की ही परीक्षा होगी. शेष विषयों की परीक्षा नहीं होगी। एमपी बोर्ड ने शनिवार को यह फैसला लिया है. परीक्षा की डेट लॉकडाउन के बाद घोषित की जाएगी. लॉकडाउन खत्म होने के 10 दिन बाद परीक्षा की तारीख घोषित की जाएगी।

केवल उन विषयों की परीक्षा ली जाएगी जो हायर स्टडीज के लिए जरूरी हैं. उच्च शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश लेने के लिए जिन विषयों की जरूरत है, उन्हीं विषयों की परीक्षा ली जाएगी। जिन विषयों की परीक्षा नहीं होगी, उनका मूल्यांकन करने और अंक देने की अलग से योजना बनाई जाएगी।

लॉकडाउन के बाद 12वीं कक्षा के जिन विषयों की परीक्षा आयोजित की जाएगी, वे इस प्रकार हैं- बायोलॉजी, हायर मैथमेटिक्स, केमिस्ट्री, अर्थशास्त्र, भूगोल, राजनीति शास्त्र, बुक कीपिंग एवं अकाउंटेंसी, व्यावसायिक अर्थशास्त्र (यानी बिजनेस इकोनॉमिक्स), क्रॉप प्रोडक्शन एंड हॉर्टिकल्चर, एनिमल हस्बेंडरी मिल्क एन्ड पोल्ट्रीफार्मिंग एंड फिशरीज, भारतीय कला का इतिहास, स्टिल लाइफ एंड डिजाइन, शरीर रचना क्रिया-विज्ञान एवं स्वास्थ्य, विज्ञान के तत्व और वोकेशनल कोर्सेज के प्रथम, द्वितीय और तृतीय प्रश्न पत्र।

कक्षा 10वीं में जिन विषयों की परीक्षा ली जानी है, वे हैं- हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू, द्वितीय एवं तृतीय भाषा हिंदी की परीक्षाएं आयोजित होंगी. मूक, बधिर और दिव्यांग छात्रों के लिए भी 10वीं और 12वीं में इन्हीं विषयों की परीक्षाएं ली जाएंगी।

12वीं में जिन विषयों की परीक्षाएं नहीं ली जाएंगी, वे इस प्रकार हैं- बायो टेक्नोलॉजी, नेशनल स्किल्स क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क के सभी विषय. मूक बधिर छात्रों के 12वी में विशिष्ट भाषा, ऊर्दू, शारीरिक शिक्षा, बायो-टेक्नोलॉजी, कृषि, मानविकी, होम साइंस, नेशनल स्किल्स, क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क। वहीं केवल मूक बधिर छात्रों के लिए 10वी में पेंटिंग और केवल दृष्टिहीन छात्रों के लिए संगीत की परीक्षाएं आयोजित नहीं की जाएंगी।

माध्यमिक शिक्षा मंडल का कहना है कि कॉपियों का मूल्यांकन 21 मार्च से शुरू किया जाना था, लेकिन कोविड-19 के कारण कॉपियों का मूल्यांकन स्थगित करना पड़ा. हालांकि जैसे ही लॉकडाउन की समाप्ति की घोषणा की जाएगी। उसके 3 दिन के बाद ही उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का कार्य भी प्रारंभ कर दिया जाएगा. इसके लिए अलग से माध्यमिक शिक्षा मंडल आदेश जारी करेगा।