बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को रहना होगा कोरोना कंट्रोल रूम के संपर्क में– कलेक्टर भरत यादव

शेयर करें:

जबलपुर। कलेक्टर भरत यादव ने जबलपुर जिले में प्रदेश के एवं जिले में बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को कोरोना कंट्रोल रूम के संपर्क में रहने के निर्देश दिये हैं फिर वो चाहे जबलपुर जिले का निवासी ही क्यों न हो । उन्होंने कहा है कि बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को जिले के प्रवेश सीमा में स्वास्थ्य की जॉच की जा रही है उनसे सेल्फ डिक्लेयरेशन फार्म भरवाया जा रहा है। सेल्फ डिक्लेयरेशन फार्म में दी गई जानकारी को कोरोना कंट्रोल रूम में रिकार्ड किया जा रहा है ।

श्री यादव ने बताया कि एकीकृत कोरोना कंट्रोल रूम का दायरा बढ़ा कर इसे अब ग्रामीण क्षेत्रों से भी जोड़ दिया गया है । ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले हर व्यक्ति पर कंट्रोल रूम से निगरानी रखी जा रही है । साथ ही जबलपुर शहर के साथ-साथ कंट्रोल रूम से ग्रामीण क्षेत्रों से मिल रही सूचनाओं का एनालिसिस भी किया जा रहा है ।

उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति बाहर से आने की सूचना छिपायेगा या सेल्फ डिक्लेयरेशन में गलत जानकारी देगा, होम क्वारेंटाइन एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करेगा उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जायेगी । श्री यादव ने कहा ऐसे लोगों को होम क्वारेंटाइन की अवधि के दौरान भी कंट्रोल रूम से सतत् संपर्क में भी रहना होगा । ऐसे लोगों को घर के सामने होम क्वारेंटाइन के पोस्टर भी लगाने होंगे । ग्रामीण क्षेत्र में पदस्थ अमले द्वारा भी इन पर निगरानी रखी जायेगी ।

श्री यादव ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ रहे मूवमेंट से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने प्रशासन के सामने चुनौती काफी बढ़ गई है । उन्होंने शहर और ग्रामीण क्षेत्र में निवास कर रहे हर व्यक्ति को सतर्क रहने, घर में ही रहने तथा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का कड़ाई से पालन करने की अपील की है ।

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन के मामले में कार्यवाही भी शुरू कर दी गई है । आज मंगलवार को शहर में बिना वजह घूमते हुए कई लोगों के वाहन पुलिस द्वारा जप्त किये गये । भीड़ इकट्टी करने के एक मामले में एफआईआर भी दर्ज कराई गई है।

कलेकटर ने कहा कि जबलपुर शहरी क्षेत्र में लगाये गये टोटल लॉकडाउन का प्रशासन द्वारा सख्ती से पालन कराया जायेगा । जरूरत पड़ी तो सब्जी मंडियों को बंद करने की अवधि और आगे भी बढ़ाई जा सकती है । हाथ ठेलों और फेरी वालों को गली मोहल्लो में घूमकर सब्जी-फल बेचने की अनुमति रहेगी ।

कोरोना कंट्रोल रूम में दो पशु चिकित्सक भी तैनात:

कलेक्टर श्री यादव ने बताया कि साधारण सर्दी, खांसी एवं बुखार से पीड़ित लोगों को टेलीमेडिसिन से चिकित्सकीय परामर्श दिये जाने के साथ-साथ अब एकीकृत कोरोना कंट्रोल रूम से पशु पालकों को भी पशुओं की बीमारी के उपचार के लिए परामर्श दिया जायेगा। इसके लिए कोरोना कंट्रोल रूम में दो पशु चिकित्सकों को तैनात किया गया है। पशुपालक, पशुओं के बीमार होने पर एकीकृत कोरोना कंट्रोल रूम से दूरभाष नंबर 0761-2637500 पर संपर्क कर सलाह ले सकते हैं ।