यूपी बोर्ड: अंक सुधार परीक्षा का मूल्यांकन 9 से 12 अक्तूबर तक

शेयर करें:

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की अंक सुधार परीक्षा का मूल्यांकन आगामी 9 से 12 अक्तूबर तक 15 केंद्रों पर किया जाएगा. बोर्ड ने अपने पांचों क्षेत्रीय कार्यालय वाले जिलों प्रयागराज, वाराणसी, मेरठ, बरेली और गोरखपुर में तीन-तीन केंद्र बनाने का निर्णय लिया है. इसके साथ ही प्रायोगिक परीक्षा के लिए सात और आठ अक्तूबर की तिथि निर्धारित की गई है. बता दें कि यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की अंकसुधार परीक्षा क्रमश: चार और छह अक्तूबर को समाप्त हो रही है. ऐसे में मूल्यांकन की तैयारी शुरू हो चुकी हैं.

बता दें कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण इस बार बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन नहीं किया गया था. इसके बाद मूल्यांकन नीति के आधार पर परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम तैयार किया गया था. यूपी बोर्ड ने 31 जुलाई को कक्षा 10 और कक्षा 12 के परिणाम घोषित किए थे. इस बार यूपी बोर्ड 10वीं का परीक्षा परिणाम 99.53 प्रतिशत रहा तो यूपी इंटरमीडिएट में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों का प्रतिशत 97.88 फीसदी रहा. हालांकि मूल्यांकन नीति पर आधारित परिणाम से कुछ परीक्षार्थी संतुष्ट नहीं थे. ऐसे में बोर्ड ने असंतुष्ट अभ्यर्थियों के लिए अंक सुधार परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया.

इसके बाद उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा 18 सितंबर से 10वीं और 12वीं की अंक सुधार परीक्षा आयोजित की जा रही है. कक्षा 10वीं की परीक्षा चार अक्तूबर और कक्षा 12वीं की परीक्षा छह अक्तूबर को समाप्त होगी. बता दें कि बोर्ड ने स्पष्ट किया है यदि कोई छात्र अंक सुधार परीक्षा में मूल्यांकन नीति आधारित परिणाम से कम अंक प्राप्त करता है तो उस छात्र के सुधार परीक्षा में प्राप्त अंकों को ही अंतिम माना जाएगा.