दो करोड़ नौजवानों को रोजगार, केंद्र का जुमला: मनमोहन सिंह

शेयर करें:

नई दिल्ली । कांग्रेस के 84वें महाधिवेशन के आखिरी दिन पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए रोजगार और जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर पूरी तरह विफल करार दिया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार ने प्रतिवर्ष दो करोड़ नौजवानों को रोजगार देने का वायदा किया था लेकिन अभी तक दो लाख रोजगार भी नजर नहीं आ रहे है।

डॉ सिंह ने कांग्रेस के महाधिवेशन में सम्बोधन में प्रधानमंत्री मोदी के वायदे को जुमला करार देते हुए कहा कि जब मोदी जी ने चुनाव प्रचार किया था, उस समय कई वायदे देश की जनता से किए थे, लेकिन इनमें से एक भी वायदे को वे पूरा नहीं कर पाए। प्रधानमंत्री मोदी ने दो करोड़ रोजगार देने का वायदा किया था लेकिन दो लाख भी नजर नहीं आ रहे | मोदी ने कहा था कि किसानों की आय को 6 वर्ष में दुगुना कर देंगे | सभी जुमलों का वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है। केंद्र सरकार द्वारा जीएसटी को सही ढंग से लागू नहीं किया गया जिसके चलते अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है।

पूर्व प्रधानमंत्री सिंह ने मोदी सरकार की कश्मीर नीति की भी आलोचना करते हुए कहा कि केंद्र की गलत नीतियों के चलते कश्मीर घाटी में दिन ब दिन हालात खराब हो रहे हैं । उन्होंने कहा कि गलत नीतियों के चलते हमारी सीमाएं भी असुरक्षित हो गयी हैं |

आतंकी घटनाओं में भी वृद्धि हुई है। इससे पहले अधिवेशन को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस के राज्यसभा में उपनेता आनंद शर्मा ने मोदी सरकार की विदेश नीति पर प्रस्ताव पेश किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विदेशों में भारत को बदनाम किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने विदेश दौरे के दौरान पूर्व प्रधानमंत्रियों को बदनाम किया।

आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने विदेश नीति को निजी बना दिया है। भारत की उपलब्धियों पर सवाल उठाकर देश की विश्वसनीयता पर भी चोट किया है। उन्होंने पाकिस्तान और चीन पर भारत सरकार के रुख को लेकर भी प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी बतौर प्रधानमंत्री पाकिस्तान गए थे, न कि सामान्य व्यक्ति की तरह, वहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर नहीं मिलना देश का अपमान है।

पाकिस्तान के मुद्दे पर सरकार के पास कोई रोडमैप ही नहीं है। हर दिन सीमापार से गोलाबारी और सीजफायर उल्लंघन की घटनाएं आम हो गई हैं । अधिवेशन में आज अलग-अलग नेताओं की तरफ से कई प्रस्तावों पर चर्चा होगी और पारित किये जाएंगे। इसके बाद शाम 4 बजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का समापन भाषण होगा।