31 अगस्त को राघौगढ़ में लगेगा रोजगार मेला

शेयर करें:

गुना @ कलेक्टर राजेश जैन ने 31 अगस्त 2017 को शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान राघौगढ़ में लगने वाले रोजगार मेले को परिणाममूलक बनाने पर जोर देते हुए कहा कि इस मेले में महिलाओं को उनकी इच्छानुसार स्वरोजगार स्थापित करने हेतु ऋण मुहैया कराना सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर ने यह बात यहां रोजगार मेले की तैयारियों के सिलसिले में ली गई बैठक में कही।

कलेक्टर ने महिला सशक्तिकरण अधिकारी को हिदायत दी कि वे सुनिश्चित करें कि इस मेले में अधिक-से-अधिक महिलाएं आएं। उन्होंने कहा कि इस मेले में उन महिलाओं को बुलाया जाए, जो पहले से छोटे-मोटे काम धंधों में लगी हैं, जिन्हें बढ़ाने के लिए उन्हें आर्थिक मदद की जरूरत है। उन्होंने ऐसी महिलाओं का सर्वे कराने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने इस मेले में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षण ले चुकी युवतियों को बुलाकर उनके स्वरोजगारमूलक इकाइयों के ऋण प्रकरण बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने रोजगारमूलक योजनाओं से जुड़े विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे उक्त मेले में अपने-अपने स्टाल लगाना सुनिश्चित करें और महिलाओं के लिए ऋण प्रकरण बनाना सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे यह कोशिश करें कि रोजगार मेले में फौरी तौर पर महिलाओं के ऋण प्रकरण तैयार हो जाएं। उन्होंने रोजगार मेले में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग की महिलाओं को बुलवाने और उनके ऋण प्रकरण बनवाने के निर्देश दिए। उन्होंने मछुआ सहकारी समितियों से जुड़ी महिलाओं और महिला स्वसहायता समूहों की महिला सदस्यों को भी रोजगार मेले में बुलाने की हिदायत दी। उन्होंने इन महिलाओं को स्वावलम्बी बनाने के लिए उनके ऋण प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने रोजगार मेले का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के अधिकारियों को निर्देश दिए और कहा कि इसके लिए पर्चे छपवाकर बंटवाए जाएं। उन्होंने रोजगार मेले की समय रहते सभी जरूरी तैयारी करने के अधिकारियों को निर्देश दिए।

बैठक में जानकारी दी गई कि उक्त रोजगार मेला 31 अगस्त 2017 को प्रातः 11 बजे से आयोजित होगा। इस मेले में रोजगार के इच्छुक युवक-युवतियों को औद्योगिक कम्पनियां, संस्थान एवं विभाग रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने हेतु मौजूद रहेंगे। इस रोजगार मेले में रोजगार के लिए गारमेन्ट्स स्पीनिंग सेक्टर, बीमा क्षेत्र, मार्केटिंग क्षेत्र, एग्रीकल्चर सेक्टर, ऑटोमोबाइल सेक्टर, सुरक्षा गार्ड तथा महिलाओं के लिए स्वरोजगार प्रशिक्षण एवं ऋण, कृषि व उद्यानिकी, पशुपालन व मत्स्य, लघु, सूक्ष्म व मध्यम एवं कुटीर उद्योग, हाथकरघा व रेशम एवं कौशल विकास प्रशिक्षण क्षेत्र होंगे। स्वरोजगार में स्थापित होने के लिए साक्षर से स्नातक एवं तकनीकी (आई.टी.आई.) योग्यता निर्धारित की गई है। युवक-युवतियों से आग्रह किया गया है कि वे रोजगार मेले में आते समय समस्त अंक सूचियां, मूल निवासी प्रमाण-पत्र, जाति प्रमाण-पत्र, दो फोटो एवं आधार कार्ड सभी प्रमाण-पत्रों की दो-दो छायाप्रतियां साथ में लावें।