जीएसटी फॉर्म के सरलीकरण पर जोर

शेयर करें:

जीएसटी के एक साल पूरे हो गए हैं. इस मौके पर डीडी न्यूज़ से खास बातचीत में बिहार के उप मुख्यमंत्री और जीएसटी परिषद के सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि आगे परिषद का फोकस जीएसटी के फॉर्म को और भी ज्यादा सरल बनाने पर और जीएसटी के प्लेटफॉर्म को यूज़र फ्रेंडली बनाने पर रहेगा.

पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के सवाल पर जीएसटी परिषद के सदस्य ने कहा कि अभी इसमें समय लगेगा. क्योंकि राज्यों के राजस्व का मुख्य भाग पेट्रोलियम पदार्थो पर लगे टैक्स से आता है. हालांकि उन्होंने कहा कि प्राकृतिक गैस और एटीएफ को इसके दायरे में लाने पर जीएसटी काउंसिल को विचार करना चाहिए.