कर्नाटक में चुनाव प्रचार हुआ तेज

शेयर करें:

कर्नाटक में चुनाव अभियान जोरों पर हैं, इस कड़ी में आज भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कुडलासंगमा में वसावेसरास्थला मंदिर में दर्शन किए । इसके बाद अमित शाह ने कर्नाटक के इलगी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि इस बार कर्नाटक के चुनावों में आंधी नहीं सुनामी आएगी । कर्नाटक में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई है,सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी बेलगाम में महिलाओं के साथ उनके मुद्दों और आकांक्षाओं पर चर्चा करेंगी, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी विजयपुरा में जनता को संबोधन के साथ ही रोड शो भी करेंगी।

कर्नाटक में 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन खत्म होने के बाद अब राजनीतिक दलों ने अपना मेनीफेस्टो जारी करना शुरू कर दिया है । शुरुआत की है कांग्रेस ने पाटी अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को मंगलूरू में कांग्रेस का घोषणापत्र जारी किया । कांग्रेस के घोषणापत्र पर बीजेपी ने कहा कि इसमें कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, किसान समस्या जैसे मुख्य मुद्दे नहीं है, बीजेपी ने कहा कि ये एक झूठ का पुलिंदा है जिससे कांग्रेस जनता को भ्रमित कर रही है।

वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी राज्य में चुनाव प्रचार किया। शाह ने एक लिंगायत मठ का दौरा किया और येलाबुर्गा और गंगावथी में जनसभा को संबोधित किया। अमित शाह ने कोप्पल के गंगावथी में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के कोरग्रुप के साथ भी बैठक की।

दूसरी ओर कांग्रेस और कर्नाटक की सिद्दारमैया सरकार की शिकायत करने बीजेपी चुनाव आयोग पहुंच गई। केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और बीजेपी नेता अरुण सिंह के नेतृत्व में बीजेपी ने चुनाव आयोग से कहा कि कांग्रेस हताशा में कर्नाटक की सरकारी मशीनरी का प्रयोग करने की कोशिश कर रही है, सागर और विदार विधानसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशियों ने अधूरे नामांकन पत्र भरे हैं, जिनको रद्द कराने की मांग भी बीजेपी ने आयोग से की।

कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों के लिए 12 मई को चुनाव होने हैं और 15 मई को नतीजे आएंगे। जल्द ही प्रधानमंत्री मोदी भी राज्य में धुआंधार प्रचार शुरू करने वाले हैं।