देश में इनोवेशन को बढावा देने के लिये प्रयास तेज

शेयर करें:

देश में इनोवेशन के माहौल को बढावा देने के लिये कई स्तरो पर तेजी से प्रयास चल रहे है। इसी कड़ी में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कल राष्ट्रपति भवन में नवाचार और उद्यमशीलता महोत्सव का उद्घाटन किया। साथ ही, उन्होंने society for research and initiative for sustainable technology and institution द्वारा आयोजित गांधीवादी युवा प्रौद्योगिकी नवाचार पुरस्कार भी प्रदान किये। इस मौके पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि नवाचार को उद्यमिता में बदलने के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है ।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सोमवार को राष्ट्रपति भवन में नवाचार और उद्यमशीलता महोत्सव का उद्घाटन किया। साथ ही, उन्होंने सोसाइटी फॉर रिसर्च एंड एनिसिएटिव फॉर ससटेनेबल टेक्नालॉजी एंड इंस्टीट्यूशन द्वारा आयोजित गांधीवादी युवा प्रौद्योगिकी नवाचार पुरस्कार भी प्रदान किये। महोत्सव नवाचार को मंजूरी देने, सम्मानित करने, प्रदर्शित करने तथा उनके लिए एक सहायक प्रणाली को बढ़ावा देने से संबंधित एक पहल है जिसका आयोजन 19 से 23 मार्च तक राष्ट्रपति भवन में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग तथा राष्ट्रीय नवाचार फाउंडेशन, इंडिया के सहयोग से किया जा रहा है। इस मौके पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि नवाचार को उद्यमिता में बदलने के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है ।

इस बार फेस्टिवल ऑफ इन्वोशन में भाग लेने वाले इंनोवेटर्स यानि नवाचारियों की संख्या पहले के मुकाबले काफी ज्याद है। इस बार इसमें कुल 250 इंनोवेटर्स भाग ले रहे हैं। साथ ही इनोवेटर्स के बीच आपसी तालमेल की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है ताकि उनके खोजों को ज्यादा कारगार तरीके से समाज के लिए उपयोगी बनाया जा सके। उम्मीद की जानी चाहिए कि इस तरह के महोत्सवों के जरिए देश के युवा नवाचारियों को एक मजबूत मंच मिलेगा और उनके नवोन्मेष को देश ही नहीं विदेशों में भी ख्याति हासिल होगी।