डा. भगवती प्रसाद त्रिपाठी की देह पंचतत्व में विलीन, रीवा क्षेत्र में शोक की लहर

शेयर करें:

रीवा@ मनगंवा से रीवा की तरफ आ रही एक तेज रफ्तार स्कार्पिओ सड़क किनारे ट्रक से जा टकराई घटना कल की है रायपुर कर्चुलियान थाना क्षेत्र अंतर्गत चोरगढ़ी गांव के पास यह हादसा हुआ। इस दुर्घटना में कार सवार आयुर्वेद कालेज के चिकित्सक डा. भगवती प्रसाद त्रिपाठी व उनके चालक आयोध्या प्रसाद शुक्ल की घटना स्थल पर ही मौत हो गई।

डा. भगवती प्रसाद त्रिपाठी स्वराज न्यूज़ चैनल के चैनल हेड श्री एस पी त्रिपाठी के बड़े भाई थे,टक्कर इतनी जोरदार थी की स्कार्पिओ के परखच्चे उड़ गए। घटना के बाद उपस्थित लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को रीवा के संजय गाँधी अस्पताल में भर्ती कराया था।

यहां चिकित्सकों ने दोनों को जांच उपरांत मृत घोषित कर दिया। इस दुर्घटना में उनकी असमायिक मौत के बाद लोगों में भारी शोक व्याप्त है। स्वभाव से सहज , सरल और मिलन सार डा. भगवती शहर के जाने माने शख्सियत थे। एक चिकित्सक से ज्यादा समाजसेवी के रूप में उनकी पहचान थी।

अपनी चिकित्सा सेवा में भी वह गरीब मरीज़ों का विशेष ध्यान रखते थे ,दुर्घटना की सूचना फैलते ही शहर का शहर शोकाकुल हो गया, अस्पताल में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा, आज पूरे वैदिक रीति रिवाज से उनका अंतिम संस्कार किया गया।