अपर मिशन संचालक ने की समग्र शिक्षा अभियान के घटकों की संभागीय समीक्षा

शेयर करें:

जबलपुर। राज्य शिक्षा केन्द्र के अपर मिशन संचालक लोकेश कुमार जांगिड ने आज शनिवार को जबलपुर संभाग के समस्त आठ जिलों के जिला शिक्षा अधिकारी एवं डीपीसी की बैठक लेकर समग्र शिक्षा अभियान के समस्त घटकों की बिन्दुवार समीक्षा की। बैठक में मुख्य रूप से कम नामांकन हेतु जबलपुर, कटनी, सिवनी जिलों के लिए नाराजगी व्यक्त की गई एवं अंतिम समय सीमा 30 जुलाई तक पूर्ण करने हेतु निर्देश दिये गये।

इसी प्रकार पाठ्य पुस्तक वितरण हेतु निर्देशित किया गया है कि जो पुस्तकें प्राप्त हो गई हैं उन्हें 30 जुलाई तक विकासखंडों से विद्यालय तक पहुंचाया जावे। बैठक में अपर मिशन संचालक ने शाला प्रवेश एवं गृह संपर्क अभियान की प्रगति समस्त जिलों की अत्यंत न्यून होने के कारण कार्यक्रम की गति प्रदान करते हुए 31 जुलाई तक पूर्ण करने हेतु निर्देश दिये।

कटनी, मंडला, सिवनी जिले में गणवेश प्रदाय की स्थिति लगभग नगण्य होने का कारण जाना एवं 10 अगस्त तक समस्त बच्चों को गणवेश वितरित करने हेतु निर्देश दिये। जिलों के यू-डाईस डाटा के सुधार हेतु 3 दिवस का समय निर्धारित किया गया है। सीडब्ल्यूएसएन बच्चों की डाईस डाटा में कटनी जिले की एंट्री सही न होने के कारण तत्काल सुधार हेतु निर्देशित किया गया है।

अपर मिशन संचालक ने कहा कि छात्रों के घर में रहते हुए अध्ययन की जो डीजीलेप व्यवस्था की गई है, उसे प्रत्येक विषय शिक्षक द्वारा लिंक प्राप्त होते ही समस्त बच्चों एवं मेंटर को प्रेषित करने हेतु निर्देश दिये तथा प्रत्येक शिक्षक 5 छात्रों से मोबाइल द्वारा संपर्क कर शिक्षण कार्य की जानकारी लें और दिये गये एप में एंट्री करें, इस प्रकार के भी निर्देश दिये गये।

समीक्षा बैठक में संयुक्त संचालक लोक शिक्षण जबलपुर संभाग डॉ. राममोहन तिवारी, जिला शिक्षा अधिकारी जबलपुर घनश्याम सोनी, जिला शिक्षा केन्द्र के डीपीसी डॉ. आर.पी. चतुर्वेदी एडीपीसी अजय दुबे एवं एपीसी श्री श्रीवास्तव, श्रीमती अनुपमा गुप्ता, श्रीमती नीलिमा विश्वास, घनश्याम बर्मन, तरूणराज दुबे, प्रोग्रामर श्रीमती पारूल राय, सहायक यंत्री ओपी सिंह आदि उपस्थित रहे।