घनी धुंध से ढका दिल्ली-एनसीआर

शेयर करें:

दिल्ली एनसीआर पर धुंध की घनी चादर छाई हूई है। जहां दिल्ली के उपराज्यपाल ने अधिकारियों को खतरे से निपटने के लिए सभी ज़रूरी कदम उठाने के दिए निर्देश दीए हैं, वहीं स्वास्थय मंत्रालय ने भी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार के बाद ही स्थिति में सुधार की संभावना है।

प्रदूषण, धुंध और कोहरे के मिले जुले असर से पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर के आस-पास के इलाक़े ज़हरीली धुंध की चादर में ढके हुए हैं। दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है। इस गंभीर स्थिति को भांपते हुए शहर के सभी स्कूलों को रविवार तक के लिए बंद कर दिया गया।

राजधानी दिल्ली में सारा दिन धुंध की घनी चादर छाई रही। दिल्ली सरकार ने मामले की गंभीरता को भांपते हुए रविवार तक स्कूल बंद रखने का एलान किया है। दिल्ली-एनसीआर का एअर क्वालिटी इंडेक्स 400 के पार पहुंच गया है। विजिबिलिटी हजार मीटर से नीचे जा रही है। रिलेटिव ह्यूमिडिटी 70 फ़ीसदी से ज्यादा रही है। दिल्ली-एनसीआर का एअर क्वालिटी इंडेक्स 400 के पार पहुंच गया है।

दिल्ली में सबसे खतरनाक स्थिति आनंद विहार इलाके की है। आनंद विहार में एअर क्वालिटी इंडेक्स 450 को पार कर गया है। राजधानी में सभी तरह के ट्रकों की आवाजाही पर पाबंदी लगाने का फैसला किया गया है। हालांकि रोज़मर्रा जरूरत का आवश्यक सामान लाने ले जाने वाले ट्रकों को पाबंदी से बाहर रखा गया है।

दिल्‍ली में धुंध की स्थिति को देखते हुए दिल्‍ली मेट्रो ने आज से फेरे बढ़ाने का फैसला किया है। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर चिंता जताते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान से खेतों में पराली जलाने के खिलाफ उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी देने को कहा है।

एनजीटी ने यूपी, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली सरकार को निर्देश दिया है कि वे वायु प्रदूषण को रोकने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दें। ट्राइब्यूनल ने इन राज्यों से 9 नवंबर तक ऐक्शन टेकन रिपोर्ट जमा करने का आदेश दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों तक घनी धुंध छायी रहेगी।