बारिश के साथ ओले गिरने से फसलें हुर्इं बर्बाद

शेयर करें:

उमरिया। दो दिनों से मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। गत दिवस मानपुर क्षेत्र के ददरौड़ी गांव में बारिश के साथ ओले गिरे। रविवार की सुबह मौसम में शुष्कता रही। पाली एवं घुनघुअी में तेज बारिश के साथ ओले गिरे। जिसके चलते फसलों को नुकसान हुआ है। दलहन एवं तिलहन की फसलों पर तो कहर टूटा है। बताया गया है कि ओलों का वजन 10 से 20 ग्राम तक है।

फसलें चौपट हो चुकी हैं। दूसरी ओर खुले मे रखी धान को भी नुकसान पहुंचा है। बारिश एवं ओले से पशु पक्षियों को भी नुकसान पहुंचा है। जनपद पंचायत करकेली के अंतर्गत ग्राम पंचायत डगडौआ के ग्राम कुरिहा में भारी ओला वृष्टि हुई है।

अनूपपुर में भी झमाझम
जिला मुख्यालय सहित ग्रामीणांचलों में रविवार को झमाझम बारिश हुई। और अचानक मौसम परिवर्तन हो गया। बताया जाता है कि अनूपपुर सहित कोतमा, बिजुरी, राजनगर, अमलाई, संजयनगर, विवेकनगर, अमलाई, जैतहरी, वेंकटनगर सहित लगभग सभी क्षेत्रों में दोपहर 2 बजे से बारिश होती रही। बारिश से दलहनी फसल अरहर, मसूर, चना मटर, तिलहनी में राई के फसल को नुकसान का अनुमान है। किसानों का कहना है कि, बेमौसम बारिश ने कमर तोड़ दी है। दलहनी फसल खराब होने से अन्नदाताओं के माथे में चिन्ता की लकीरें है।

वेंकटनगर के आसपास के ग्रामों में शाम 4 बजे ओलावृष्टि के बाद घंटों भीषण वर्षा हुई। जिन गेहूं की बालियांआ गई हैं उनका 80 फीसदी से अधिक नुकसान हुआ है जिनमें बालियां नहीं निकली उनकी 50 प्रतिशत की क्षति हुई । आम और महुआ की फसलों को भी नुकसान हुआ है। पुष्पराजगढ़ अमरकंटक के सभी इलाको में दिन भर बादलों का डेरा रहा और रुक रुक कर पूरे दिन बारिश होती रही। बारिश और ओलों सें तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। अचानक जिले में ठंड बढ़ गई है जिला कृषि विभाग के उप संचालक एनडी गुप्ता ने बताया कि बारिश और ओले से गेहूं में ज्यादा नुकसान का अनुमान है।