केंट मतदाता सूची से नाम काटे जाने पर करौंदी वार्ड को लगा झटका

शेयर करें:

जबलपुर@ मतदाता सूची से नाम काटे जाने पर करौंदी वार्ड को लगा झटका। वार्ड के लोगो में काफी आक्रोश देखने मिला। यह आक्रोश आज आवेदनों पर हो रही सुनवाई के दौरान भी नजर आया। केंट बोर्ड के वार्ड क्रमांक 7 करौंदी से आए सबसे ज्यादा आवेदनों को सुनवाई से पहले ही अलग-अलग कारणों के चलते रिजेक्ट कर दिया गया। रांझी के मुख्य मार्ग से लगे हुए केंट सिविल एरिया में रह रहे लोगो के नाम मतदाता सूची से काटे जाने पर ब्रिगेडियर अरुण सभरवाल की अध्यक्षता में हुई सुनवाई के दौरान करीब 450 मतदाताओं ने अपना पक्ष रखा। इसके अलावा करौंदी बस्ती के शेष बचे आवेदक भी ब्रिगेडियर के समक्ष उपस्थित हुए। इस दौरान केंट बोर्ड उपाध्यक्ष अभिषेक चौकसे, करौंदी वार्ड के पूर्व पार्षद गोविंद यादव व निर्वाचित मेंबर राजीत याद वभी मौजूद रहे। मतदाता सूची सर्वे के उपरांत प्रारंभिक वोटर लिस्ट से बाहर किए गए मतदाताओं से प्रक्रिया के तहत दावा आवेदन बुलवाए गए थे। उक्त दावा आवेदनों पर वार्ड अनुसार सुनवाई की जा रही है। करौंदी वार्ड में पूर्व में 5504 मतदाताओं के नाम सूची में थे। मतदाता सूची से करीब 3751 लोगों के नाम बाहर कर दिए गए हैं। लिहाजा सूची में पुन: नाम जोड़ने के लिए करौंदी वार्ड से तीन हजार 50 फार्म आए थे, लेकिन केंट बोर्ड प्रशासन ने इनमें से 350 फार्मों को निर्धारित समय पर नहीं आने के चलते सुनवाई प्रक्रिया से बाहर कर दिया। वहीं 680 फार्मों को अलग – अलग गलतिया बताकर रिजेक्ट कर दिया गया। मतलब यह है कि करौंदी वार्ड के करीब 1000 मतदाताओं के फार्म सुनवाई के पहले ही रिजेक्ट कर दिए गए। यह आंकड़ अन्य वार्डों के मुकाबले काफी बड़ा है।