कोरोना से संक्रमित सपा सासंद आजम खान की तबीयत बिगड़ी, आला अधिकारी जिला कारागार पहुंचे

शेयर करें:

सीतापुर. कोरोना संक्रमित सपा सांसद आजम खान को तबियत बिगड़ने पर जिला कारागार से मेदांता हॉस्पिटल शिफ्ट किया जा रहा है. इसके लिए एसडीएम सदर अमित भट्ट और एसपी सिटी पीयूष कुमार सिंह सहित आला अधिकारी जिला कारागार पहुंचे हैं. आजम खान मेदांता अस्पताल ले जाने के लिए कारागार के बाहर एंबुलेंस और स्कॉट लगाया गया है. आजम और उनका पुत्र अबदुल्ला आजम कोरोना संक्रमित हैं, परिजन उनको कई दिनों से अच्छे अस्पताल में शिफ्ट करने की मांग कर रहे थे.

सवा साल से जेल में हैं आजम
आजम खान पिछले एक साल से ज्यादा समय से सीतापुर जेल में बं द हैंं. सीतापुर जेल प्रशासन ने बीते दिनों उनका कोविड टेस्ट कराया था. कोविड टेस्ट रिपोर्ट में आजम खान सहित जेल में 13 बंदी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। उनके पुत्र अब्दुल्ला आजम खान भी संक्रमित बताए गए हैं।

आजम और बेटे पर कई केस दर्ज
आजम पर 80 से ज्यादा मुकदमें दर्ज है, जबकि उनके पुत्र अब्दुल्ला पर 40 से ज्यादा केस दर्ज हैं. अधिकतर मामलों में आजम को जमानत मिल चुकी है, अब कुछ मुकदमों में ही जमानत मिलनी बाकी है. आजम खान की विधायक पत्नी तजीन फातमा को कुछ दिनों पहले ही जमानत मिल गई थी.

दस्तावेजों में हेराफेरी पर हुई थी जेल
बीते साल 26 फरवरी को आजम खान, उनकी पत्नी तजीन फातमा और बेटे अब्दुल्ला आजम ने रामपुर की अदालत में आत्मसमर्पण किया था. तीनों के पर दस्तावेजों में हेराफेरी करके फर्जी पैन कार्ड और पासपोर्ट बनवाने का साल 2019 में मुकदमा दर्ज हुआ था. इस मुकदमे में अदालत द्वारा बार-बार बुलाने के बावजूद वे हाजिर नहीं हो रहे थे. लिहाजा कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया. तब तीनों ने अदालत में आत्मसमर्पण किया और जमानत मांगी लेकिन, अदालत ने उन्हें रामपुर की जिला जेल भेज दिया.

आजम और अब्दुल्ला को नहीं मिली है जमानत
27 फरवरी को तीनों को सीतापुर जेल में शिफ्ट किया गया. दिसंबर, 2020 में उनकी पत्नी और रामपुर सदर से सपा विधायक तजीन फातमा को जमानत मिल गयी थी. वे बाहर हैं लेकिन, आजम खान और उनके बेटे को अभी जमानत का इंतजार है.