निराश्रित बेसहारों के हुए कलेक्टर कर्मवीर, देर रात निगमायुक्त के साथ 50 से अधिक लोगों को पहुंचाया रैन बसेरा

शेयर करें:

जबलपुर। शहर में पड़ रही अत्याधिक ठंड को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा नगर निगम के सहयोग से सड़क किनारे, खुले में एवं फुटपाथों पर सोने वाले निराश्रित और बेसहारा लोगों को रेन बसेरों तक पहुंचाने के लिए व्यापक मुहिम चलाई जा रही है।

आज रविवार के अवकाश के बावजूद कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने निगमायुक्त अनूप कुमार को साथ देर रात शहर के कई क्षेत्रों का भ्रमण कर खुले में सोने वाले निराश्रित, बेसहारा और भिक्षुकों से व्यक्तिगत चर्चा की एवं उन्हें तत्काल ही बस एवं अन्य वाहनों से रैन बसेरों तक पहुंचाने की व्यवस्था कराई।

कलेक्टर ने अधिकारियों की टीम के साथ कचहरी वाले बाबा की मजार , मालगोदाम चौक, ब रेलवे स्टेशन, कलेक्ट्रेट के आसपास के इलाकों में सड़क किनारों, फुटपाथ पर रात गुजारने वाले बेसहारा लोगों का हालचाल जाना और उन्हें सुविधाजनक ढंग से रात बिताने के लिए नगर निगम द्वारा संचालित रैन बसेरों के लिए भेज दिया।

बता दें कि इस कार्य के लिये शहरी क्षेत्र के एसडीएम एवं नगर निगम की अधिकारियों की अलग-अलग टीमें बनाई हैं, जो नियमित रूप से वाहनों के साथ शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में जाकर खुले में रात बिताने वाले लोगों को चिन्हित करेंगे एवं संबंधित स्थलों के आसपास संचालित रैन बसेरों में भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।

आज रविवार की रात कलेक्टर और निगमायुक्त ने खुद ही शहर के मुख्य सड़कों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, बाजार क्षेत्रों के अलावा मंदिरों के आसपास बैठकर सड़क पर ही रात बिताने वाले भिक्षुकों और निराश्रित लोगों को सम्मान पूर्वक रैन बसेरों तक भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित की।

इस दौरान करीब 50 से अधिक बेसहारा, निराश्रित और भिक्षुकों को रैन बसेरों में भेजा गया। इस अवसर पर तहसीलदार राजेश सिंह, सहायक आयुक्त अतिक्रमण वेद प्रकाश चौधरी, अतिक्रमण अधिकारी सागर बोरकर एवं टीम के अन्य सदस्य आदि उपस्थित थे।