फ़र्ज़ी हैं बीड़ी, सिगरेट पीने वालों को नहीं होगा कोरोना का संक्रमण ? पीआईबी ने ये ट्वीट कर चेताया

शेयर करें:

नई दिल्‍ली. कोरोना संक्रमण ने भारत को जकड़ लिया है और हर तरफ हाहाकार मचा है. लोग इससे इस कदर खौफजदा हैं कि गलत तथ्‍यों पर भी यकीन करके उसे आजमाने लग जा रहे हैं. उसी में से एक पिछले दिनों प्रचारित और प्रसारित की गई ये खबर है कि सिगरेट पीने वालों को कोरोना का खतरा बहुत कम है.

कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये काउंसिल आफ साइंटफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च का हवाले देकर कहा गया कि जो व्‍यक्ति धूम्रपान करता है उसको कोरोना का खतरा न के बराबर है. इन समाचारों में वेजिटेरियन लोगों के लिए भी इस तरह का दावा किया गया था. हालां‍कि पीआईबी ने इस बात से इनकार कर दिया है और इस दावे को गलत बताया है. पीआईबी ने इस संबंध में एक ट्विट भी किया है.

कोरोना की दूसरी लहर वैसे तो सभी को अपनी चपटे में ले रही है. इस वायरस से सिर्फ अच्छे-अच्छे फिटनेस फ्रीक और खिलाड़ी भी संक्रमित होने से नहीं बच सके. जबकि भारत में कोरोना के मामले तेजी के साथ बढ़ रहेे हैं. हर दिन लाखों मरीज कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं. ऐसे में पिछले दिनों कुछ मीडिया समूहों के द्वारा ये समाचार प्राचारित और प्रसारित किया गया कि सिगरेट पीने वालों को कोरोना नहीं होगा.

इन रिपोर्टस में सीएआईआर की रिसर्च का हवाला दिया गया है. जिसमें कहा गया था कि धूम्रपान करने वालों (Smokers), शाकाहारी भोजन करने वालों (Vegetarians) और ओ ब्लड ग्रुप वाले लोगों पर कोरोना वायरस का बहुत कम खतरा है. लेकिन पीआईबी के फैक्‍ट चेक में ये बात गलत साबित हुई है. पीआईबी की ओर से बताया गया कि सीएसआईआर अध्ययन की प्रेस रिलीज़ जारी होने की बार गलत हैै.

भारत पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन 3 लाख से अधिक कोविड -19 मामलेे साामने आ रहे हैं. हजारों लोगों की इससे जान भी जा रही है. पूरे भारत में ऑक्‍सीजन की भारी कमी भी है. कई अन्‍य देशों में भी कोरोना केसेस तेजी के साथ बढ़े हैं लेकिन भारत की स्थिति बहुत ही चिंताजनक हैै.

कोरोनोवायरस संक्रमण में विनाशकारी तेजी के बीच जीवन बचाने में मदद करने का कई देशों ने भारत को आश्वासन भी दिया है. संयुक्त राज्य अमेरिका ने पांच टन से अधिक ऑक्सीजन भेज सकता है. वहीं सऊदी अरब और पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान ने भी मदद की पेशकश की है.