सीआईए: खशोगी की हत्या के पीछे सऊदी अरब के युवराज का हाथ

शेयर करें:

सीआईए ने खशोगी की हत्या के पीछे सऊदी अरब के युवराज का हाथ बताया। अमेरिका का ये आकलन सऊदी अरब के अभियोजक के विपरीत है जिन्होंने एक दिन पहले इस नृशंस हत्या में वली अहद की संलिप्तता को खारिज किया था

अमेरिका की केंद्रीय खुफिया एजेंसी इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के पीछे सऊदी अरब के युवराज वली अहद मोहम्मद बिन सलमान का हाथ है। द वाशिंगटन पोस्ट ने मामले से जुड़े लोगों के हवाले से शुक्रवार को ये ख़बर दी। अमेरिका का ये आकलन सऊदी अरब के अभियोजक के विपरीत है जिन्होंने एक दिन पहले इस नृशंस हत्या में वली अहद की संलिप्तता को खारिज किया था। सऊदी अरब के 15 एजेंट सरकारी विमान से इस्तांबुल पहुंचे थे और उन्होंने सऊदी अरब के दूतावास में खशोगी की हत्या की।

इस बारे में पूछे जाने पर सीआईए ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। वाशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार खशोगी अपनी तुर्क मंगेतर से शादी करने के वास्ते आवश्यक दस्तावेज हासिल करने के लिए दूतावास गए थे।

सऊदी अरब के अभियोजक ने गुरुवार को अपनी नई कहानी सुनाते हुए कहा था कि खशोगी को समझा बुझाकर इस्तांबुल से वापस लाने के लिए 15 सदस्यीय दल गठित किया गया था लेकिन अंतत: पत्रकार की हत्या कर दी गई और उनके शव को टुकड़े-टुकड़े कर दिया गया।