मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना

शेयर करें:

हरदा @ जिले में मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना संचालित है। जिसमें केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा अधिकतम 90 प्रतिशत अनुदान दिये जाने का प्रावधान है। इस योजना का संचालन म.प्र.ऊर्जा विकास निगम भोपाल के माध्यम से किया जा रहा है। इस योजना में जिन कृषकों द्वारा आवेदन प्रस्तुत किया गया था। म.प्र. ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड भोपाल द्वारा चयनित सूची जारी की गयी है। इस संबंध में 10 दिवस के अन्दर चयनित कृषको को कृषक अंश राशि खाता का नाम ‘‘म.प्र. ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड सी.एम.सोलर पम्प स्कीम’’ भोपाल के आई.सी.आई.सी.आई. बैंक, शिवाजीनगर शाखा भोपाल के खाता क्रमांक 656501700232 में ऑन लाईन राशि जमा कर प्राप्ति रसीद कार्यालय उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास जिला हरदा में जमा करें।

दूसरे चरण के लिये ऑन लाइन एवं ऑफ लाइन आवेदन निरन्तर जारी है। ऐसे कृषक इस योजना का लाभ लेने हेतु Website:-www.mpcmsolarpump.com पर ऑनलाइन/ऑफलाइन आवेदन कर आवेदन की प्रति कार्यालय उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास जिला हरदा के कार्यालय में निर्धारित प्रारूप में सम्पूर्ण दस्तावेज संलग्न कर प्रस्तुत कर सकतें है।

यह योजना संपूर्ण प्रदेश के जिलेवार निर्धारित लक्ष्य अनुसार समस्त कृषको के लिये लागू होगी।निर्धारित आवेदन के साथ निर्धारित राशि रूपये 5000/- डी.डी./ऑनलाईन माध्यम से म.प्र. ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड भोपाल के देयक के साथ प्राप्त होना अनिवार्य है अन्यथा आवेदन निरस्त किया जा सकता है। सोलर पंप स्थल उपयुक्त/चयन न होने पर पंजीयन राशि रूपये 5000/- निगम द्वारा आवेदक को वापिस होगी। निर्धारित लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने की स्थिति मे प्राप्त हुये समस्त आवदेनों का लॉटरी के माध्यम से हितग्राही कृषक का चयन किया जावेगा। चयन की सूचना मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड द्वारा दिये जाने पर हितग्राही कृषक को शेष राशि डी.डी./ऑनलाईन माध्यम से 20 दिवस में मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड भोपाल को देनी होगी। राशि प्राप्त होने के पश्चात् लगभग 120 दिवस में सोलर पंपो की स्थापना का कार्य पूर्ण कर दिया जायेगा। विशेष परिस्थितियों में समय अवधि बढ़ाई जा सकती है। सोलर पंप की स्थापना एवं संतोषप्रद प्रदर्शन उपरांत संयंत्र हितग्राही को सौंप दिया जायेगा। सोलर पंप के कन्ट्रोलर इत्यादि में किसी भी प्रकार से छेड़-छाड़ न करें, खराबी आने पर पूर्णतः हितग्राही की जिम्मेदारी होगी। सोलर पैनल की समय-समय पर सफाई करना आवश्यक है।